Menu Close

विमान का आविष्कार किसने किया

एक हवाई जहाज एक प्रकार का विमान है, जो अपने पंखों से प्रेरित होकर हवा में उड़ता है। यह कई आकार, वजन आदि में आता है। इसका मुख्य उपयोग सामान और लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाना है। इसके अलावा, इसका उपयोग सेना, अनुसंधान कार्य आदि में भी किया जाता है। कई विमानों को उड़ान भरने के लिए ड्राइवर की आवश्यकता होती है, लेकिन कुछ को कंप्यूटर की सहायता से भी संचालित किया जा सकता है। इस लेख में हम, विमान का आविष्कार किसने किया इसे जानेंगे।

विमान का आविष्कार किसने किया

विमान का आविष्कार किसने किया

विमान का आविष्कार राइट बंधु ने किया। हवाई जहाज के आविष्कारक राइट बंधु (Wright brothers) में से ऑरविल का जन्म १९ अगस्त, १८७१ को हुआ और ३० जनवरी १९४८ को उनकी मृत्यु हुई। जबकि दूसरे भाई विलबर का जन्म १६ अप्रैल, १८६७ और देहांत ३० मई, १९१२ को हुआ। यह दो अमरीकन बंधु थे जिन्हें हवाई जहाज का आविष्कारक माना जाता है।

राइट बंधु ने 17 दिसंबर 1903 को दुनिया की सबसे पहली सफल मानवीय हवाई उड़ान भरी जिसमें हवा से भारी विमान को नियंत्रित रूप से निर्धारित समय तक संचालित किया गया। इसीलिए हवाई जहाज के आविष्कारक राइट बंधु को माना जाता है। इसके बाद के दो वर्षों में अनेक प्रयोगों के बाद इन्होंने विश्व का प्रथम उपयोगी दृढ़-पक्षी विमान तैयार किया। ये प्रायोगिक विमान बनाने और उड़ाने वाले पहले आविष्कारक तो नहीं थे, लेकिन इन्होंने हवाई जहाज को नियंत्रित करने की जो विधियाँ खोजीं, उनके बिना आज का वायुयान संभव नहीं था।

विमान का आविष्कार किसने किया
ऑरविल (बायें) एवं विलबर (दायें)

इस आविष्कार के लिए आवश्यक यांत्रिक कौशल इन्हें कई वर्षों तक प्रिंटिंग प्रेस, बाइसिकल, मोटर और अन्य कई मशीनों के साथ काम करते मिला। बाइसिकल के साथ काम करते-करते इन्हें विश्वास हो गया कि वायुयान जैसे असंतुलित वाहन को भी अभ्यास के साथ संतुलित और नियंत्रित किया जा सकता है। 1900 से 1903 तक इन्होंने ग्लाइडरों पर बहुत प्रयोग किये जिससे इनका पायलट कौशल विकसित हुआ। इनके बाइसिकल की दुकान के कर्मचारी चार्ली टेलर ने भी इनके साथ बहुत काम किया और इनके पहले यान का इंजन बनाया।

जहाँ अन्य आविष्कारक इंजन की शक्ति बढ़ाने पर लगे रहे, वहीं राइट बंधुओं ने आरंभ से ही नियंत्रण का सूत्र खोजने पर अपना ध्यान लगाया। इन्होंने वायु-सुरंग में बहुत से प्रयोग किए और सावधानी से जानकारी एकत्रित की, जिसका प्रयोग कर इन्होंने पहले से कहीं अधिक प्रभावशाली पंख और प्रोपेलर खोजे। इनके पेटेंट में दावा किया गया है कि इन्होंने वायुगतिकीय नियंत्रण की नई प्रणाली विकसित की है जो विमान की सतहों में बदलाव करती है।

अनेक अन्य आविष्कारकों ने भी हवाई जहाज के आविष्कार का दावा किया है, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि राइट बंधुओं की सबसे बड़ी उपलब्धि थी। तीन-ध्रुवीय नियंत्रण का आविष्कार, जिसकी सहायता से ही पायलट विमान को संतुलित रख सकता है और दिशा-परिवर्तन कर सकता है। नियंत्रण का यह तरीका सभी विमानों के लिये मानक बन गया और आज भी सब तरह के दृढ़-पक्षी विमानों के लिए यही तरीका उपयुक्त होता है।

इस लेख में हमने, विमान का आविष्कार किसने किया इसे जाना। बाकी ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए आर्टिकल देख सकते हो।

यह भी पढे:

Related Posts