Menu Close

उड़ते इंटरनेशनल फ्लाइट में पैदा हो जाए बच्चा, तो कहां की मिलेगी नागरिकता

भारत में 7 महीने या उससे अधिक की गर्भवती महिला को हवाई यात्रा करने की अनुमति नहीं है, लेकिन कुछ विशेष मामलों में इसकी अनुमति है। ऐसे में अगर कोई महिला भारत से अमेरिका के लिए उड़ान भरने वाले विमान में बच्चे को जन्म देती है तो उसका जन्म स्थान क्या होगा और बच्चे के जन्म प्रमाण पत्र में उसकी नागरिकता क्या होगी? यह सबसे बड़ा सवाल है। लंदन से कोच्चि आ रही एयर इंडिया की फ्लाइट में हाल ही में एक बच्चे का जन्म हुआ। अब लोगों के मन में यह सवाल उठा कि बच्चे की उड़ते इंटरनेशनल फ्लाइट में पैदा हो जाए बच्चा, तो कहां की नागरिकता मिलती है

उड़ते इंटरनेशनल फ्लाइट में पैदा हो जाए बच्चा, तो कहां की नागरिकता मिलती है

उड़ते इंटरनेशनल फ्लाइट में पैदा हो जाए बच्चा, तो कहां की नागरिकता मिलती है?

उड़ते इंटरनेशनल फ्लाइट में पैदा हो जाए बच्चा, तो उसे उस स्थान की नागरिकता मिल सकती है जिस जगह के ऊपर से प्लेन में जन्म हुआ हो। उदाहरण के लिए, यदि पाकिस्तान से अमेरिका के लिए उड़ान भरने वाला विमान भारतीय सीमा के ऊपर से गुजर रहा है और साथ ही यदि विमान में बच्चे का जन्म हुआ है, तो बच्चे का जन्म स्थान भारत माना जाएगा और उस बच्चे को नागरिकता मिल सकती है। उनके माता-पिता का देश और साथ ही भारत की नागरिकता। हालांकि, भारत में दोहरी नागरिकता का कोई प्रावधान नहीं है।

ऐसे में देखना होगा कि बच्चे के जन्म के वक्त विमान किस देश की सीमा से ऊपर उड़ रहा है। लैंडिंग के बाद बच्चे के जन्म प्रमाण पत्र से संबंधित दस्तावेज उस देश के एयरपोर्ट अथॉरिटी से प्राप्त किए जा सकते हैं। हालाँकि, बच्चे को अपने माता-पिता की राष्ट्रीयता हासिल करने का भी अधिकार है।

अमेरिका में सामने आया था ऐसा मामला

कुछ साल पहले ऐसा ही एक मामला अमेरिका में सामने आया था। एक विमान ने एम्सटर्डम से अमेरिका के लिए उड़ान भरी थी। जब विमान अटलांटिक महासागर में पहुंचा तो एक महिला को प्रसव पीड़ा हुई और उसने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। हालांकि बाद में मां और बच्चे को अमेरिका के मैसाचुसेट्स जनरल अस्पताल ले जाया गया। लड़की का जन्म अमेरिकी सीमा पर हुआ था, इसलिए उसे अमेरिका और नीदरलैंड दोनों की नागरिकता मिली। विमान में जन्म लेने वाले बच्चों की नागरिकता को लेकर हर देश में अलग-अलग नियम होते हैं।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!