Menu Close

वाष्पीकरण किसे कहते है

वाष्पीकरण द्रव से गैस में पदार्थ की अवस्था में एक चरण परिवर्तन को संदर्भित करता है। वाष्पीकरण शब्द का उपयोग बोलचाल या अतिशयोक्तिपूर्ण तरीके से किसी वस्तु के भौतिक विनाश को संदर्भित करने के लिए भी किया गया है जो तीव्र गर्मी या विस्फोटक बल के संपर्क में है, जहां वस्तु वास्तव में गैसीय रूप में परिवर्तित होने के बजाय छोटे टुकड़ों में नष्ट हो जाती है। इस लेख में हम, वाष्पीकरण (Vaporization) क्या & किसे कहते है इसे संक्षेप में जानेंगे।

वाष्पीकरण क्या & किसे कहते हैं | What is Vaporization in Hindi

वाष्पीकरण क्या & किसे कहते है

सामान्य भाषा में, वातावरण के गर्मी के कारण जब पाणी की भाप होती है, उसे हम वाष्पीकरण कहते है। वाष्पीकरण यह लगातार चल रहा है एक चरण बद्ध भौतिक प्रक्रिया है, जिसके कारण धरती पे जीवन पनप रहा है। वाष्पीकरण और उबलना यह वाष्पीकरण दो प्रकार के होते हैं। वाष्पीकरण एक सतही घटना है, जबकि उबलना एक थोक घटना है।

जैसे-जैसे सतह क्षेत्र बढ़ता है, वाष्पीकरण की दर बढ़ जाती है। जैसे-जैसे तापमान बढ़ता है, अधिक कणों को गतिज ऊर्जा प्राप्त होती है, जिससे वाष्पीकरण की दर बढ़ जाती है। जब हमारे चारों ओर नमी की मात्रा अधिक होती है, तो वाष्पीकरण की दर कम हो जाती है।

वाष्पीकरण तरल चरण से वाष्प में एक चरण संक्रमण है जो किसी दिए गए दबाव पर उबलते तापमान से नीचे के तापमान पर होता है। सतह पर वाष्पीकरण होता है। वाष्पीकरण तभी होता है जब किसी पदार्थ के वाष्प का आंशिक दबाव संतुलन वाष्प के दबाव से कम होता है। उदाहरण के लिए, लगातार घटते दबावों के कारण, घोल से निकलने वाली वाष्प अंततः क्रायोजेनिक तरल को पीछे छोड़ देगी।

उबालना भी तरल चरण से गैस चरण में एक चरण संक्रमण है, लेकिन उबलना तरल की सतह के नीचे वाष्प के बुलबुले के रूप में वाष्प का निर्माण है। क्वथनांक तब होता है जब पदार्थ का संतुलन वाष्प दाब पर्यावरणीय दबाव से अधिक या उसके बराबर होता है। जिस तापमान पर क्वथनांक होता है वह क्वथनांक या क्वथनांक होता है। क्वथनांक पर्यावरण के दबाव के साथ बदलता रहता है।

यह भी पढे:

Related Posts

error: Content is protected !!