मेन्यू बंद करे

WBC बढ़ने से क्या होता है? जानिये बीमारी का नाम

श्वेत रक्त कोशिकाएं – व्हाइट ब्लड सेल (WBC), या ल्यूकोसाइट्स, प्रतिरक्षा प्रणाली की कोशिकाएं हैं जो शरीर को संक्रामक रोगों और बाहरी पदार्थों से बचाती हैं। ल्यूकोसाइट्स रक्त और लसीका प्रणालियों सहित पूरे शरीर में पाए जाते हैं। वे अस्थि मज्जा में निर्मित होते हैं। इसे हमारे शरीर का सिपाही भी कहा जाता है। यह एंटीजन और एंटीबॉडी का उत्पादन करता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली में भाग लेते हैं। एक बार बनने वाली एंटीबॉडी जीवन भर नष्ट नहीं होती हैं। इस लेख में हम, व्हाइट ब्लड सेल (WBC) बढ़ने से क्या होता है और WBC बढ़ने के नुकसान क्या है जानेंगे।

wbc बढ़ने से क्या होता है

व्हाइट ब्लड सेल (WBC) बढ़ने से क्या होता है

व्हाइट ब्लड सेल (WBC) बढ़ने से कैंसर होने का खतरा होता है। हमारे शरीर में के WBC जो हमारे शरीर को कई हजार बीमारियों से बचाता है। अगर ये धीरे-धीरे घटते या बढ़ते हैं और उनकी जगह ब्लड कैंसर के कण बढ़ जाते हैं। एक स्वस्थ शरीर में श्वेत रक्त कणिकाओं की संख्या 4 से 10 हजार के बीच होती है। वहीं अगर इसके स्थान पर कार्सिनोजेनिक डब्ल्यूबीसी की संख्या बढ़ जाए तो यह कैंसर का कारण बनता है।

इसके साथ जब आपके शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं का स्तर बहुत अधिक होता है, तो वे आपके रक्त को बहुत गाढ़ा बना सकते हैं, जिससे रक्त प्रवाह बाधित हो सकता है। इससे हाइपरविस्कोसिटी सिंड्रोम नामक स्थिति हो सकती है। हालांकि यह ल्यूकेमिया के साथ हो सकता है, यह बहुत दुर्लभ है।

ल्यूकोसाइटोसिस एक ऐसी स्थिति है जिसमें सफेद कोशिका रक्त में सामान्य सीमा से ऊपर होती है। ल्यूकोसाइटोसिस रक्त में ल्यूकोसाइट्स के बढ़े हुए स्तर की विशेषता वाली स्थिति है। हालांकि यह आमतौर पर तब होता है जब आप बीमार होते हैं, यह कई अन्य कारकों के कारण भी हो सकता है, जैसे कि तनाव।

इस लेख में हमने, व्हाइट ब्लड सेल (WBC) बढ़ने से क्या होता है जाना। बाकी ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लेख पढ़े:

Related Posts