Menu Close

वैश्वीकरण की विशेषताएं

वैश्वीकरण का शाब्दिक अर्थ है स्थानीय या क्षेत्रीय वस्तुओं या घटनाओं को वैश्विक स्तर पर बदलने की प्रक्रिया। इसका उपयोग उस प्रक्रिया का वर्णन करने के लिए भी किया जा सकता है जिसके द्वारा दुनिया भर के लोग एक समाज बनाने और एक साथ काम करने के लिए एक साथ आते हैं। प्रक्रिया आर्थिक, तकनीकी, सामाजिक और राजनीतिक ताकतों का एक संयोजन है। सरल शब्दों में, वैश्वीकरण का अर्थ देश की अर्थव्यवस्था को विश्व अर्थव्यवस्था के साथ एकीकृत करना है। इस लेख में हम वैश्वीकरण की विशेषताएं क्या है जानेंगे।

वैश्वीकरण की विशेषताएं

वैश्वीकरण की विशेषताएं

1. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थानांतरित करने के लिए लचीलापन

वैश्वीकरण की प्रक्रिया के कारण, आज डॉक्टरों, इंजीनियरों, वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों, वास्तुकारों, लेखाकारों, प्रबंधकों, बैंकरों और कंप्यूटर विशेषज्ञों आदि का विदेशी आंदोलन भी पूंजी प्रवाह जितना आसान और लचीला हो गया है।

2. एक नई संस्कृति का उदय

वैश्वीकरण की प्रक्रिया में, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की दूरस्थ पहुंच ने एक नई विश्व संस्कृति को जन्म दिया है। जींस, टी-शर्ट, फास्ट फूड, पॉप संगीत, नेट पर चैटिंग ने एक ऐसी संस्कृति का निर्माण किया है जिसने दुनिया के हर देश के युवाओं को प्रभावित किया है।

3. बिचौलियों को प्रोत्साहित करें

वैश्वीकरण की प्रक्रिया के कारण श्रम निर्यातक देशों में कई ऐसे एजेंट या बिचौलिए सक्रिय हो गए हैं, जो लोगों को कानूनी और अवैध दोनों तरह से विदेशों में काम करवाते हैं। इतना ही नहीं ये बिचौलिए लोगों को विदेश भेजने में भी मदद करते हैं।

4. श्रम बाजार का वैश्वीकरण

श्रम बाजार का वैश्वीकरण भी Globalization की प्रक्रिया में एक विशेषता है। 1965 में, लगभग 7.5 करोड़ लोग रोजगार के कारण एक देश से दूसरे देशों में चले गए थे, जबकि यह आंकड़ा वर्ष 1999 में 120 मिलियन तक पहुंच गया था। वर्तमान में यह और बढ़ गया है।

5. बहुराष्ट्रीय कंपनियों की गतिविधि

इस प्रक्रिया में बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। ये कंपनियां पहले केवल माल, सेवाओं, प्रौद्योगिकी, पूंजी आदि की आवाजाही में मदद करती थीं।

6. शिक्षा का वैश्वीकरण

वैश्वीकरण या Globalization ने भी शिक्षा के वैश्वीकरण को जन्म दिया है। इसमें विकासशील देशों के शिक्षण संस्थानों का पाठ्यक्रम विश्वस्तरीय हो गया है, जिससे यहां पढ़ने वाले छात्रों को दुनिया के किसी भी देश में रोजगार मिल सके।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!