Menu Close

वैकल्पिक ऊर्जा क्या है | वैकल्पिक ऊर्जा के स्रोत

दुनिया भर में लोगों ने कई सदियों से पारंपरिक पवन ऊर्जा, जल विद्युत, जैव ईंधन और सौर ऊर्जा का उपयोग किया है। वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों का उपयोग करके बिजली का बड़े पैमाने पर उत्पादन अब आम होता जा रहा है। इस लेख में हम वैकल्पिक ऊर्जा क्या है और वैकल्पिक ऊर्जा के स्रोत क्या है जानेंगे।

वैकल्पिक ऊर्जा क्या है

वैकल्पिक ऊर्जा क्या है

ऊर्जा के वे सभी स्रोत वैकल्पिक ऊर्जा कहलाते हैं जो जीवाश्म ऊर्जा के विकल्प हैं। उदाहरण के लिए, पवन ऊर्जा, जल विद्युत, सौर ऊर्जा आदि। वैकल्पिक ऊर्जा वह ऊर्जा है जो वैकल्पिक संसाधनों से एकत्र की जाती है जो स्वाभाविक रूप से मानव समय पर फिर से भर जाती हैं। इसमें सूरज की रोशनी, हवा, बारिश, ज्वार, लहरें और भूतापीय गर्मी जैसे स्रोत शामिल हैं। हालांकि अधिकांश नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत टिकाऊ हैं, कुछ नहीं हैं।

वैकल्पिक ऊर्जा के स्रोत

जलविद्युत ऊर्जा

गिरते या बहते जल की गतिज ऊर्जा से उत्पन्न विद्युत को जलविद्युत कहते हैं। वर्ष 2020 में, दुनिया भर में लगभग 4500 टेरावाट-घंटे (TWh) जलविद्युत उत्पन्न हुआ, जो दुनिया की कुल विद्युत ऊर्जा का लगभग छठा हिस्सा है। अन्य सभी नवीकरणीय ऊर्जाओं ने भी संयुक्त रूप से पनबिजली से कम उत्पादन किया।

पवन ऊर्जा

हवा के चलने से उत्पन्न ऊर्जा को पवन ऊर्जा कहते हैं। वायु एक अक्षय ऊर्जा स्रोत है। पवन ऊर्जा बनाने के लिए पवन चक्कियों को हवा वाले स्थानों पर स्थापित किया जाता है, जिसके माध्यम से हवा की गतिज ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। इस यांत्रिक ऊर्जा को जनरेटर की सहायता से विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जा सकता है।

सौर ऊर्जा

सौर ऊर्जा वह ऊर्जा है जो सीधे सूर्य से प्राप्त होती है। यह वह जगह है जहाँ पृथ्वी पर सभी प्रकार के जीवन का सहारा है, जैसे पेड़ और पौधे और जानवर। वैसे तो सौर ऊर्जा का प्रयोग विभिन्न तरीकों से किया जाता है, लेकिन सौर ऊर्जा का विद्युत ऊर्जा में रूपांतरण मुख्य रूप से सौर ऊर्जा के रूप में जाना जाता है।

सूर्य की ऊर्जा को दो प्रकार से विद्युत ऊर्जा में बदला जा सकता है। पहली फोटो-इलेक्ट्रिक सेल की मदद से गर्मी से गर्म करने के बाद, इससे एक इलेक्ट्रिक जनरेटर चलाकर सौर ऊर्जा सबसे अच्छी ऊर्जा है। यह भविष्य में उपयोग की जाने वाली ऊर्जा है।

जीवाश्म ईंधन

जीवाश्म ईंधन एक प्रकार का प्राकृतिक ईंधन है जो कई साल पहले बनाया गया था। यह लगभग 65 मिलियन वर्ष पहले उच्च दबाव और गर्मी में जीवित प्राणियों के जलने के कारण हुआ है। यह ईंधन पेट्रोल, डीजल, गैसलेट आदि के रूप में होता है। इसका उपयोग ड्राइविंग, खाना पकाने, प्रकाश व्यवस्था आदि के लिए किया जाता है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!