Menu Close

तालाबंदी से क्या तात्पर्य है

अब पूरा देश इस वायरस से लड़ने के लिए अपने-अपने घरों में कैद है। इस महामारी के प्रकोप से लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और इससे बचने का एक ही उपाय है और वह है सोशल डिस्टेंसिंग। यह संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत तेजी से फैलता है, जिस कारण भारत सरकार ने इससे बचने के लिए स्वयं लॉकडाउन को आवश्यक बताया है। अगर आप नहीं जानते की, तालाबंदी या लॉडाउन से क्या तात्पर्य है तो हम इस आर्टिकल में इसके बारे में आसान भाषा में बताने जा रहे है।

तालाबंदी से क्या तात्पर्य है

तालाबंदी से क्या तात्पर्य है

लॉकडाउन अथवा तालाबंदी एक आपातकालीन प्रोटोकॉल है। लॉकडाउन लोगों या समुदाय के लिए जहां वे हैं, वहां रहने के लिए एक प्रतिबंध नीति है। यानी लॉकडाउन एक आपातकालीन व्यवस्था है, जिसे किसी भी आपदा या महामारी के समय लागू किया जाता है। जिस इलाके में लॉकडाउन किया गया है, वहां के लोगों को अपने घरों से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। उन्हें सिर्फ दवा और खाना जैसी जरूरी चीजें खरीदने के लिए ही बाहर निकलने की इजाजत है। लॉकडाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति बेवजह के काम के लिए सड़कों पर नहीं निकल सकता है।

तालाबंदी क्यों जरूरी है

देशभर में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इससे निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से प्रयास जारी हैं और इसके लिए प्रयास जारी हैं। लेकिन इस समय हर कोई सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दे रहा है। इस महामारी से बचने का सबसे कारगर और सबसे बड़ा उपाय लॉकडाउन या तालाबंदी को बताया जाता है।

देश को कोरोना वायरस से बचाने के लिए लॉकडाउन का होना बेहद जरूरी है। लॉकडाउन की मदद से कोरोना संक्रमण के संचरण की श्रृंखला को तोड़ना आवश्यक है, इसलिए लॉकडाउन आवश्यक है। यदि सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन नहीं है तो 1 कोरोना संक्रमित व्यक्ति लगभग 200 बार संक्रमण फैला सकता है, इसलिए लॉकडाउन होना जरूरी है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का पालन कर कोरोना महामारी से निजात पाई जा सकती है।

लॉकडाउन क्यों किया जाता है

जब किसी क्षेत्र को लॉक डाउन किया जाता है तो वहां रहने वाले लोगों को खतरे से बचाने के लिए यह कदम उठाया जाता है। मसलन, कोरोना वायरस को लेकर कई देशों में लॉकडाउन हो गया है। जैसा कि सभी जानते हैं कि एक दूसरे के बीच कोरोना संक्रमण फैल रहा है। इस खतरनाक वायरस से बचने के लिए लोगों को घर में ही रहने की सलाह दी गई है। प्रशासन ने लोगों से स्थिति नियंत्रण में आने तक घरों में रहने की अपील की है। क्योंकि अगर वह बाहर आता है तो संक्रमण का खतरा और बढ़ जाएगा।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!