Menu Close

Tag: ब्रिटिश साम्राज्य

लॉर्ड डलहौजी की हड़प (विलय) नीति की पूरी जानकारी (1848-1856)

लॉर्ड डलहौजी की हड़प (विलय) नीति की पूरी जानकारी (1848-1856)

रॉबर्ट क्लाइव ने प्लासी की लड़ाई के साथ ब्रिटिश साम्राज्य की नींव रखी; लॉर्ड वेलेजली ने राज्य को एक वास्तविक साम्राज्य में बदल दिया, और…

'अमीर' के सिंध प्रांत पर ब्रिटिशों का कब्जा (1832-1843)

‘अमीर’ के सिंध प्रांत पर ब्रिटिशों का कब्जा (British capture of Sindh province of ‘Amir’ 1832-1843)

इस लेख में हम, ‘अमीर’ के सिंध प्रांत पर ब्रिटिशों का कब्जा किस तरह किया गया इसे जानेंगे। १८वीं शताब्दी में पंजाब से तंजावुर तक…

दूसरा और तीसरा आंग्ल-मराठा युद्ध: कारण एवं परिणाम

दूसरा और तीसरा आंग्ल-मराठा युद्ध: कारण एवं परिणाम

भले ही पेशवा बाजीराव, मराठों के राज्य के प्रमुख, अंग्रेजों के हाथों में पड़ गए, उनके शिंदे, होलकर, भोसले आदि प्रमुख अभी भी स्वतंत्र थे…

लॉर्ड हेस्टिंग्स का शासनकाल (1813 -1823)

लॉर्ड हेस्टिंग्स का शासनकाल (1813 -1823)

लॉर्ड हेस्टिंग्स को 1813 में गवर्नर-जनरल नियुक्त किया गया था। उन्हें भी, ब्रिटिश सरकार द्वारा तटस्थता को पुरस्कृत करने का आदेश दिया गया था; लेकिन…

पेशवा बाजीराव

पेशवा बाजीराव द्वितीय का शासन और सहायक संधि (तैनाती फौज)

इस लेख में हम, पेशवा बाजीराव द्वितीय का शासन और सहायक संधि (तैनाती फौज) को विस्तार से जानेंगे। वेलेस्ली के समय में मराठी साम्राज्य की…

लार्ड वेलेजली (वेलेस्ली) का शासनकाल और सहायक संधि (तैनाती फौज) प्रणाली

लॉर्ड वेलेजली (वेलेस्ली) का शासनकाल और सहायक संधि (तैनाती फौज) प्रणाली

कार्नवालिस के बाद सर जॉन शोर गवर्नर-जनरल बने। (१७९३ से १७९८); लेकिन उन्होंने हिंदी राज्य सभा के मामले में संभावित तटस्थता की नीति अपनाई। फलस्वरूप…

वारेन हेस्टिंग्स और लॉर्ड कार्नवालिस का शासनकाल

वारेन हेस्टिंग्स और लॉर्ड कार्नवालिस का शासनकाल

इस लेख में हम, वारेन हेस्टिंग्स और लॉर्ड कार्नवालिस का शासनकाल को विस्तार से जानेंगे। हमने पिछले लेख में द्वैध शासन इस दोहरी राज्य प्रणाली…

बक्सर की लड़ाई और रॉबर्ट क्लाइव का शासनकाल

बक्सर की लड़ाई और रॉबर्ट क्लाइव का शासनकाल

रॉबर्ट क्लाइव प्लासी की जीत के असली हकदार थे। प्लासी का युद्ध उनकी कूटनीति का एक उल्लेखनीय उदाहरण था। न्याय – अन्याय की पर्वा बिना…

error: Content is protected !!