Menu Close

Tag: ईस्ट इंडिया कंपनी

वर्ष 1858 के बाद भारत में केंद्रीय और प्रांतीय प्रशासन

1858 क्रांति के बाद भारत में केंद्रीय और प्रांतीय प्रशासन कैसा था? जानिये

इस लेख में हम, 1857 के विद्रोह के बाद कंपनी सरकार से ब्रिटिश सरकार द्वारा 1858 के बाद भारत में केंद्रीय और प्रांतीय प्रशासन को…

१८५८ का अधिनियम, महारानी का घोषणापत्र: विशेषताएं और महत्व

1858 का अधिनियम, महारानी का घोषणापत्र में क्या थी विशेषताएं और महत्व? जानिये

१८५७ का विद्रोह कंपनी सरकार की सेना में हिंदी सैनिकों का विद्रोह था; अंग्रेजों ने इसे लोगों का समर्थन न होने के रूप में कितना…

1857 के विद्रोह के परिणाम: राजनीतिक, प्रशासनिक, सामाजिक, आर्थिक आदि

1857 के विद्रोह (क्रांति) के परिणाम: राजनीतिक, प्रशासनिक, सामाजिक, आर्थिक आदि

1857 के विद्रोह को भारत के बाहर के विद्वानों ने केवल सिपाहियों और कुछ राजरजवाड़ों का विद्रोह बताया; और कहा गया की इसमें भारत की…

1857 का विद्रोह (क्रांति) के असफलता के कारण और स्वरूप

1857 का विद्रोह (क्रांति) के असफलता के कारण क्या थे? जानिये

1857 का विद्रोह (क्रांति) मेरठ, कानपुर, सतारा, बिहार, झांसी सहित देश के कई अन्य जगह पे हुआ। इसका प्रभाव इतना गंभीर था की तब की…

भारत में 1857 का विद्रोह कानपुर, औंध, बिहार, झांसी, बनारस प्रांत में कैसे प्रारंभ हुआ

भारत में 1857 का विद्रोह (क्रांति) कानपुर, औंध, बिहार, झांसी, बनारस प्रांत में कैसे प्रारंभ हुआ

इस लेख में हम, भारत में 1857 का विद्रोह (क्रांति) कानपुर, औंध, बिहार, झांसी, बनारस प्रांत में कैसे प्रारंभ हुआ इसे विस्तार से जानेंगे। 9…

1857 के विद्रोह का राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक, सैन्य और तात्कालिक कारण

1857 के विद्रोह (क्रांति) का राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक, सैन्य और तात्कालिक कारण

१८५७ के विद्रोह से अधिक विवादास्पद घटना कभी नहीं हुई। विद्रोह की शुरुआत से लेकर आज तक, ब्रिटिश शासकों और इतिहासकारों और भारतीय नेताओं और…

ईस्ट इंडिया कंपनी की आर्थिक नीति & दादाभाई नौरोजी का धन-निष्कासन का सिद्धांत

ईस्ट इंडिया कंपनी की आर्थिक नीति & दादाभाई नौरोजी का धन-निष्कासन का सिद्धांत

हर राजवंश की कुछ आर्थिक और सामाजिक नीतियां होती है। शासकों की आर्थिक और सामाजिक नीतियां लोगों के कल्याण के लिए होनी चाहिए, विकास में…

भारत में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सिविल सेवा प्रणाली

भारत में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सिविल सेवा प्रणाली कैसी थी? जानिये

भारत में कंपनी सरकार की सिविल सेवा प्रणाली ईस्ट इंडिया कंपनी मूल रूप से एक व्यापारिक कंपनी थी। इसके लिए आवश्यक लिपिकों या अधिकारियों की…

वर्ष 1858 के बाद भारत में केंद्रीय और प्रांतीय प्रशासन

भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी की प्रशासन व्यवस्था कैसी थी? जानिये

इस लेख में हम, विस्तार से भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी की प्रशासन व्यवस्था को जानेंगे। ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत में तीन प्रमुख व्यापारिक…

लॉर्ड डलहौजी की हड़प (विलय) नीति की पूरी जानकारी (1848-1856)

लॉर्ड डलहौजी की हड़प (विलय) नीति की पूरी जानकारी (1848-1856)

रॉबर्ट क्लाइव ने प्लासी की लड़ाई के साथ ब्रिटिश साम्राज्य की नींव रखी; लॉर्ड वेलेजली ने राज्य को एक वास्तविक साम्राज्य में बदल दिया, और…