Menu Close

स्तंभ मूल क्या है

पौधे का वह भाग जो जड़ से विकसित होकर भूमि में प्रवेश करता है और प्रकाश के विरुद्ध जाता है, जड़ (Root) कहलाता है। यह एक अवशोषण अंग, वातन अंग, खाद्य भंडार और सपोर्ट के रूप में कार्य करता है। इस लेख में हम स्तंभ मूल क्या है जानेंगे।

स्तंभ मूल क्या है

स्तंभ मूल क्या है

स्तंभ मूल (Prop Root) पेड़ या पौधे वो जड़ होती है, जो ऊपर पेड़ से निकलकर जमीन में जाती है। जैसे- बरगद की बाहरी जड़ें। ये जड़े आमतौर पर पेड़ के ऊपरी हिस्सों में निर्माण होती है और ऊपर से जमीन में जाती है। यह एक प्रकार से पेड़ों के सपोर्ट को और मजबूत बनती है।

बरगद के पेड़ का तना और शाखाएं इतनी लंबी होती हैं कि इन पौधों को जमीन में स्थिर रखने के लिए सामान्य जड़ प्रणाली पर्याप्त नहीं होती है। अतः इस प्रकार के पौधों में तने की शाखाओं से अपस्थानिक जड़ें निकलती हैं, जो भूमि में प्रवेश कर शाखाओं को आधार प्रदान करती हैं। इन्हें स्तंभ मूल कहा (Prop Root) जाता है। बरगद जैसे पेड़ों की स्तंभ मूले मजबूत और लंबी होती हैं।

हालांकि, स्तंभ मूल कई विभिन्न पौधों की प्रजातियों में भी पाए जाते हैं, जिनमें ऑर्किड, मैंग्रोव, बरगद के पेड़, वर्षावन शामिल हैं। पार्श्व शाखाएं मिट्टी में लंबवत नीचे की ओर बढ़ती हैं और स्तंभों के रूप में कार्य करती हैं। जबकि मक्का, गन्ना आदि में यांत्रिक सहायता के लिए तने के आधार से निकलने वाली अपस्थानिक जड़ें अवस्तंभ मूल (Stilt Root) कहलाती हैं।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!