Menu Close

स्तंभ लेखन किसे कहते हैं

समाचार पत्रों में समाचारों और विशेषताओं के अतिरिक्त विचारोत्तेजक सामग्री भी प्रकाशित की जाती है। कई समाचार पत्र अपने वैचारिक रुझान के लिए जाने जाते हैं। समाचार पत्रों में संपादकीय पृष्ठ पर प्रकाशित संपादकीय अग्रलेख, लेख और टिप्पणियाँ विचारशील लेखन की श्रेणी में आती हैं। इसी का भाग स्तंभ लेखन है। अगर आप स्तंभ लेखन क्या होता है या स्तंभ लेखन किसे कहते हैं नहीं जानते तो हम इस आर्टिकल में इसके बारे में विस्तार से जनक्री देने जा रहे है।

स्तंभ लेखन किसे कहते हैं

स्तंभ लेखन किसे कहते हैं

स्तंभ लेखन विचार लेखन का मुख्य रूप है। कुछ महत्वपूर्ण लेखकों की अपनी विशेष वैचारिक प्रवृत्ति होती है, ऐसे लेखकों की लोकप्रियता को देखते हुए अखबार उन्हें नियमित कॉलम लिखने की जिम्मेदारी देता है। ये लेखक नियमित रूप से एक समाचार पत्र में एक कॉलम लिखते हैं। उन्हें कॉलम का विषय चुनने और उसमें अपने विचार व्यक्त करने की पूर्ण स्वतंत्रता है। इस प्रकार अपनी विशिष्ट शैली और वैचारिक प्रवृत्ति के कारण लोकप्रिय लेखक द्वारा समाचार-पत्र में किया गया विशेष और नियमित लेखन, स्तम्भ लेखन कहलाता है।

एक स्तंभ लेखन एक समाचार पत्र, पत्रिका या अन्य प्रकाशन में एक आवर्ती लेख है। यह वह जगह है जहां एक लेखक समाचार पत्र संगठन द्वारा उन्हें दिए गए कुछ स्तंभों में अपनी राय लिखता है। स्तंभ स्तंभकारों द्वारा लिखे जाते हैं। स्तंभ लेखन एक प्रकार का विचारोत्तेजक लेखन है, जिसमें किसी संवेदनशील विषय पर गहन विचार व्यक्त किए जाते हैं। कुछ महत्वपूर्ण लेखक जो अपनी अनूठी शैली में लिखने के लिए जाने जाते हैं और वे अपने विचारों और विचारों को बहुत ही खास शैली में लिखते हैं। ऐसे लेखकों की लोकप्रियता को देखते हुए अखबार उन्हें अपने पत्रों में नियमित कॉलम लिखने की जिम्मेदारी देते हैं।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!