Menu Close

सहभागी अवलोकन क्या है

किसी घटना या वस्तु को व्यवस्थित और सूक्ष्मता से देखने और साजिश रचने की विधि को अवलोकन कहा जाता है। सामाजिक घटनाएं विविध और जटिल प्रकृति की होती हैं। सभी प्रकार की घटनाओं का एक ही प्रकार के अवलोकन से अध्ययन नहीं किया जा सकता है। इसलिए विभिन्न प्रकार के अवलोकन विकसित हुए। इसी का प्रकार ‘Participant Observation’ है। इस लेख में हम सहभागी अवलोकन क्या है जानेंगे।

सहभागी अवलोकन क्या है

सहभागी अवलोकन क्या है

सहभागी अवलोकन सामाजिक परिघटनाओं का अध्ययन करने की वह विधि है जिसमें प्रेक्षक अध्ययन समूह के साथ इस प्रकार घुलमिल जाता है कि उस समूह के सभी सदस्य, प्रेक्षक के वास्तविक उद्देश्य से अवगत न होकर, उसे अपने समूह का वास्तविक सदस्य मानते हैं। ऐसी स्थिति में अवलोकन उस समूह की विभिन्न गतिविधियों और जीवन शैली में भाग लेता रहता है, लेकिन आंतरिक रूप से उसका उद्देश्य समूह के जीवन का अध्ययन करना रहता है।

1924 में, एडवर्ड लिंडमैन ने पहली बार अपनी पुस्तक सोशल डिस्कवरी (Social Discovery) में सहभागी अवलोकन शब्द का इस्तेमाल किया। उनका विचार था कि सामाजिक घटनाओं की वास्तविकता को केवल अनुसूची और प्रश्नावली के माध्यम से कुछ प्रश्नों के उत्तर देकर नहीं समझा जा सकता है। घटनाओं के वास्तविक अध्ययन के लिए यह आवश्यक है कि हम उनके बारे में प्रश्न न करें, बल्कि उन्हें स्वयं देखें।

सहभागी अवलोकन की परिभाषा (Definition of Participant Observation)

1. पी. वी. यंग के अनुसार, अनियंत्रित अवलोकन का प्रयोग करने वाला सहभागी अवलोकनकर्ता साधारणतया उस समूह के जीवन में रहता तथा भाग लेता है जिसका कि वह अध्ययन कर रहा है।

2. पी. एच. मान के अनुसार, सहभागी अवलोकन का तात्पर्य एक ऐसी दशा से है जिसमें अवलोकनकर्ता अध्ययन किये जाने वाले समूह की सभी सामान्य गतिविधियों में स्वयं भी भाग लेता है

उपरोक्त परिभाषाओं से स्पष्ट है कि सहभागी प्रेक्षण में प्रेक्षक अध्ययन के लिए समूह में रहता है और इसके एक भाग के रूप में तथ्यों को एकत्रित करता है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!