मेन्यू बंद करे

राजस्थान में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला कौन सा है? जानिये यहा

आदिवासी देश की कुल आबादी का 8.14% हैं, और देश के लगभग 15% क्षेत्र में निवास करते हैं। यह एक वास्तविकता है कि आदिवासी लोगों को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है, जो उनके निम्न सामाजिक, आर्थिक और भागीदारी संकेतकों में किया जा सकता है। इस लेख में हम, राजस्थान में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला कौन सा है? इसे जानेंगे।

राजस्थान में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला कौन सा है

राजस्थान में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला कौन सा है

राजस्थान में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति वाला जिला बांसवाड़ा है। बसनवाड़ा जिला गुजरात और मध्य प्रदेश की सीमा से लगे राजस्थान के दक्षिणी भाग में एक जिला है। इसे राजस्थान का चेरापूंजी भी कहा जाता है। यहां का मुख्य आकर्षण माही नदी है, जो मध्य प्रदेश से होकर माही बांध तक बहती है, माही नदी जो बांसवाड़ा जिले की जीवन शक्ति है।

यहाँ मुख्य रूप से वागड़ी भाषा बोली जाती है, जिले के प्रमुख नगर कुशलगढ़, परतापुर, बगीदौरा, घाटोल, अर्थुना हैं। वन बहुतायत में हैं और लकड़ी, वनस्पति आदि यहाँ बहुतायत में पाए जाते हैं। वर्ष 2011 में कुल जनसंख्या 17,97,485 थी, जिसमें पुरुष 9,07,754 और महिलाएं 8,89,731 थीं। शहरी आबादी 1,27,621 थी और ग्रामीण आबादी 16,69,864 थी। दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर 26.50% थी और जनसंख्या घनत्व 397 व्यक्ति प्रति किमी था। लिंगानुपात 980 था, यानी 1000 पुरुषों पर 980 महिलाएं थीं। कुल साक्षरता दर 56.3% थी।

यह भी पढ़े:

Related Posts