Menu Close

रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है? असल कारण जानिये

क्या आपको पता है की रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है ? क्या कारण होता है की पूरे रेलवे ट्रैक पर नोकीले पत्थरों को बिछाया जाता है? आपने जब भी रेल से सफर किया होगा तब आपको पूरे रेल ट्रैक पर गिट्टी (छोटे नोकीले पत्थर) को बिछाए हुए देखा होगा. यह पत्थर कोई भी ट्रेन हो उसके पूरे ट्रैक पर मौजूद होते है. इसके बारे हम जानेंगे लेकिन पहले हम अपने भारतीय रेल की थोड़ी जानकारी ले लेते है.

भारतीय रेल भारत सरकार द्वारा नियंत्रित सार्वजनिक रेलसेवा है. देश मे रेलवे की कुल लंबाई 67 हजार से ज्यादा है एवं इसमे रोजाना 2 करोड़ से ज्यादा यात्री 13 हजार से ज्यादा ट्रेनों के जरिए सफर करते है. इसमे काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या 12 लाख से ज्यादा है. इस रेलवे की देखरेख के लिए विशेष रेल मंत्रालय केंद्र सरकार मे मौजूद होता है.

 रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है

रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है

ट्रेन की साधारण दिखने वाली पटरी वास्तव मे एक विशेष सीस्टमटिक तरीके बनायी गई होती है. आपने अगर इसे सामान्य जमीन पर निरीक्षण किया होगा तो आपको यह फर्क महसूस हुआ होगा की पटरी जमीन से थोड़ी ऊपर मौजूद है. उस पटरी के नीचे स्लीपर होते है, जिनके नीचे पत्थर यानि गिट्टी होती है. यह गिट्टी सामान्य गोल गोल पत्थर ना होकर नुकीले पत्थर होते है. ऐसे नोकीले होने से यह पत्थर फसे रहते है तथा इनका फैलाव नहीं होता है.

ट्रेनों का वजन कई टन होता है जिसे ये पटरिया संभालती है. लेकिन इस ट्रेन को संभालने के लिए पटरियों मे मौजूद रेल ट्रैक, स्लीपर और पत्थर इन तीनों की ही भूमिका महत्वपूर्ण होती है. इन ट्रेनों का इतना भारी भरकम वजन उठाने का श्रेय असल मे ट्रैक पर मौजूद पत्थरो को जाता है. क्योंकि वास्तव मे यही ट्रैक पर आए ट्रेनों का पटरियों के सहायता से वजन उठाते है. जब भी ट्रैक पर से ट्रेन गुजरती है तो पटरियों के कंपन को पत्थर नियंत्रित करते है, जिससे पटरिया एक जगह से हिलती नहीं है तथा तेज आवाजों को भी पैदा करने से यह रोकता है.

ट्रैक पर मौजूद पत्थर रेलवे ट्रैक को एक जगह टीके रखने मी मदद करते है तथा किसी भी तरह की फिसलन से बचाते है. इसके साथ बरसाथ के दिनों मे जलभराव जैसी समस्यावो मे पत्थरो के कारण ट्रैक सुरक्षित रहता है और भारी वजन के साथ ट्रैक मे फसे होने से इसका पाणी के साथ बहने का खतरा भी नहीं होता है. साथ मे रेल पटरी पर इसके कारण कोई पेड़ पौधे भी नहीं उगते. यही कारण होते है की इन रेल पटरीवों पर पत्थर बिछाए गए होते है.

हम उम्मीद करते है की आपको रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है ? इस सवाल का जवाब मिल गया होगा. आपको पत्थरो के पीछे का कारण तो पता चल गया लेकिन क्या आपको पता है की इन रेल पटरियों मे जंग क्यों नहीं लगता है? जबकि इनपर ना कोई पेन्ट मारा जाता है ना इसे ढककर रखा जाता है. खुली आसमान के नीचे होने के बावजूद इसमे क्यों जंग नहीं लगता है? अगर जानना चाहते हो असल कारण तो नीचे दिया गया आर्टिकल जरूर पढ़े.

Related Posts