Menu Close

पुरानी पेंशन योजना क्या है

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य का Budget 2022-23 पेश किया है। बजट के इतिहास में यह पहली बार है जब राज्य का कृषि बजट राज्य में पहली बार अलग से पेश किया गया। वहीं, बजट में सीएम गहलोत ने कई क्षेत्रों को लेकर अहम घोषणाएं की हैं। मुख्यमंत्री ने बजट में युवा, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में अहम घोषणाएं करते हुए चिरंजीवी योजना के तहत बीमा का विस्तार करने के साथ ही Purani Pension Yojana को भी बहाल किया है। इस लेख में हम, पुरानी पेंशन योजना क्या है जानेंगे।

पुरानी पेंशन योजना क्या है

पुरानी पेंशन योजना क्या है

मुख्यमंत्री ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को लेकर एक अहम ऐलान करते हुए अब सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को फिर से लागू कर दिया है। अब प्रदेश में एक जनवरी 2004 व उसके बाद नियुक्त सभी कर्मचारियों को नई पेंशन व्यवस्था की जगह पुरानी पेंशन का लाभ मिल सकेगा। वहीं, सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए पूरी पेंशन पाने का रास्ता खोल दिया गया है। बता दें कि नई पेंशन योजना से मजदूर वर्ग लंबे समय से परेशान था, जिसके चलते समय-समय पर कई आंदोलन होते रहे हैं।

पुरानी पेंशन योजना के तहत 2004 से पहले सरकारी नौकरी में शामिल होने वालों को सेवानिवृत्ति के बाद एक निश्चित पेंशन राशि का लाभ मिलता था, जो उनकी सर्विस के समय पर ना होकर रिटायरमेंट के समय कर्मचारी की सैलरी पर तय होती थी। वहीं, इस योजना के तहत सेवानिवृत्त कर्मचारी की मृत्यु के बाद उसके परिवार के सदस्यों को भी पेंशन सुविधा का लाभ दिया जाता था।

इसके अलावा पुरानी पेंशन योजना के तहत जीपीएफ सुविधा, जीपीएफ निकासी (सेवानिवृत्ति के समय) पर आयकर छूट, ग्रेच्युटी लाभ जैसी कई सुविधाएं दी जाती थीं। वहीं, पेंशन के लिए वेतन में से कोई कटौती नहीं की गई। इस योजना के तहत सरकारी कर्मचारी को महंगाई भत्ता, जीपीएफ से हर 6 महीने बाद कर्ज और सेवानिवृत्ति के बाद चिकित्सा भत्ता, सेवानिवृत्ति के बाद चिकित्सा बिलों की प्रतिपूर्ति मिलती थी।

राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री गहलोत ने कर्मचारियों की पेंशन के संबंध में वेतन में कटौती के 2017 के फैसले को वापस ले लिया है, जिससे सरकार पर 1000 करोड़ का अतिरिक्त वित्तीय बोझ पड़ेगा। अब प्रदेश में एक जनवरी 2004 के बाद नियुक्त कर्मचारी पुरानी पेंशन योजना का लाभ ले सकेंगे।

यह भी पढे –

Related Posts

error: Content is protected !!