Menu Close

पुखराज रत्न के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Pukhraj Stone in Hindi

पुखराज रत्न के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Pukhraj Stone in Hindi: पुखराज एक अनमोल रत्न है। पुखराज को संस्कृत में ‘पुष्पराग’ कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राशि अनुसार रत्न धारण करने से हमारे जीवन में सुख-समृद्धि का विकास होता है और धन, मान-सम्मान आदि में भी वृद्धि होती है। इन्हीं चमत्कारी रत्नों में से एक है – पुखराज। पुखराज बृहस्पति ग्रह का रत्न है, जिसका रंग पीला है।

पुखराज रत्न के फायदे और नुकसान

यह रत्न व्यक्ति को सभी समस्याओं से मुक्ति दिलाता है इसलिए व्यक्ति को अपने जीवन में आने वाली समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए इस रत्न को अवश्य धारण करना चाहिए। इस दुनिया में कई रत्न पाए जाते हैं और सभी रत्नों के अपने अलग-अलग कार्य होते हैं। इस रत्न को धारण करने के बाद व्यक्ति के अंदर एक नई ऊर्जा का संचार होता है। जब व्यक्ति मूल और उच्च स्तर का Pukhraj stone धारण करता है तो व्यक्ति को सभी प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं, जिसकी सहायता से वह अपने जीवन में उन्नति करता है।

पुखराज रत्न के फायदे

1. पुखराज बृहस्पति ग्रह का रत्न है इसलिए इस रत्न को धारण करने से धन और संपत्ति में वृद्धि होती है। Pukhraj stone पहनना उन लोगों के लिए फायदेमंद होता है जिनके विवाह में बृहस्पति की प्रतिकूल स्थिति के कारण बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है।

2. पुखराज धारण करने से मान-सम्मान में वृद्धि होती है। शिक्षा और करियर के क्षेत्र में सफलता मिलने के योग हैं। Pukhraj stone विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने का काम करता है।

3. इस रत्न को धारण करने से पाचन क्रिया भी कमजोर होती है। इसके अलावा आध्यात्मिक या धार्मिक विषयों में रुचि रखने वालों के लिए भी पुखराज फायदेमंद होता है।

4. पुखराज उन लोगों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है जिन्हें छाती, श्वास और गले से संबंधित रोग हैं। यह पत्थर शांति देता है। जिन लोगों का मन एकाग्र नहीं हो पाता उन्हें इस रत्न को धारण करने से लाभ मिल सकता है। यह निर्णय लेने की क्षमता में सुधार करता है।

5. यदि व्यक्ति इस रत्न को धारण करता है तो उसे अच्छी और बुरी चीजों को समझने की शक्ति प्राप्त होती है। धन संबंधी लाभ मिलता है, यह पीला पुखराज कर्ज में रहने वाले लोगों को कर्ज मुक्त बनाता है। इसके प्रभाव से व्यक्ति को पारिवारिक सुख की प्राप्ति होती है, धन-धान्य से परिपूर्ण हो जाता है।

6. ऐसे लोग जिनकी शादी नहीं हो रही है, अगर वे इस रत्न को धारण करते हैं, तो उनके विवाह में बाधाएं कम होंगी, जिससे विवाह पूरा होगा। यह पुखराज रत्न एक अच्छा जीवनसाथी पाने का कारक भी माना जाता है। इसके शुभ प्रभाव से जातक को वैवाहिक जीवन में सुख की प्राप्ति हो सकती है।

7. यह पुखराज रत्न व्यक्ति के लिए सबसे अधिक लाभकारी रत्न कहा जाता है क्योंकि इसका शुभ प्रभाव व्यक्ति को तनाव से मुक्ति दिलाने की शक्ति देता है। स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां कम हैं।

8. यह रत्न कानूनी विवादों को सफलतापूर्वक सुलझाने में मदद करता है। इस रत्न के शुभ प्रभाव से व्यक्ति की बुद्धि का विकास होता है, जिससे वह संस्कारी व्यक्ति बनता है। इसलिए इस रत्न को शिक्षा के क्षेत्र में सफलता का कारक माना जाता है।

पुखराज रत्न के नुकसान

1. यदि कोई व्यक्ति पुखराज रत्न खरीदता है तो उसे अवश्य देखना चाहिए कि उस पुखराज में कोई सीधी खड़ी रेखा नहीं है, यदि है तो उसे न खरीदें क्योंकि वह Pukhraj stone आपके घर को नष्ट कर देता है, अर्थात यह आपके घर को बर्बाद कर देता है। कोई भी सदस्य स्वस्थ नहीं रहेगा, उसे किसी न किसी तरह की शारीरिक परेशानी बनी रहेगी।

2. यदि आप पुखराज रत्न धारण करना चाहते हैं तो आपको एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि इस पुखराज रत्न को धारण करने से पहले आप किसी अनुभवी ज्योतिषी को अपनी कुंडली अवश्य दिखाएं, उसके बाद ही Pukhraj stone धारण करें, अन्यथा आपको इसका बुरा प्रभाव झेलना पड़ सकता है।

3. पुखराज रत्न जो दिखने में चिकने और चमकदार नहीं होते हैं, उन्हें पहनने से आपको कई तरह की शारीरिक समस्याएं हो जाती हैं, जिससे आपकी सेहत में कोई खराबी आ जाती है।

4. पुखराज रत्न के बुरे प्रभाव से बचने के लिए सभी ज्योतिषी कुछ न कुछ सलाह देते हैं जिससे जातक को Pukhraj stone के शुभ प्रभाव ही भुगतने पड़ते हैं।

5. कुछ Pukhraj stone ऐसे भी होते हैं जिनमें महीन परत इस प्रकार होती है कि व्यक्ति को पुखराज रत्न नहीं खरीदना चाहिए। यदि आप उस रत्न को खरीद कर धारण भी करते हैं तो व्यक्ति को संतान सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती है। इसलिए पुखराज रत्न सोच समझकर ही खरीदें।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!