मेन्यू बंद करे

प्लेटलेट्स का दूसरा नाम क्या है

Platelets की संख्या को बनाए रखना बहुत जरूरी है। अगर प्लेटलेट्स की कमी है तो इसका मतलब है कि आपके खून में बीमारियों से लड़ने की शक्ति कम हो रही है। अगर प्लेटलेट्स की संख्या 10,000 से कम हो जाती है तो ब्लीडिंग का खतरा बढ़ जाता है। इस लेख में हम प्लेटलेट्स का दूसरा नाम क्या है जानेंगे।

प्लेटलेट्स का दूसरा नाम क्या है

प्लेटलेट्स का दूसरा नाम क्या है

प्लेटलेट्स का दूसरा नाम बिम्बाणु है। प्लेटलेट्स रक्त का एक हिस्सा है जो रक्त के थक्के जमने में मदद करता है। आम तौर पर इंसान के खून में एक लाख पचास हजार से चार लाख Platelets प्रति क्यूबिक मिलीमीटर होते हैं। रक्त में प्लेटलेट्स की संख्या किसी विशेष बीमारी या आनुवंशिक प्रवृत्ति के कारण होती है। यह किसी उपचार या सर्जरी के कारण भी होता है। रक्त में मौजूद Platelets का एक महत्वपूर्ण कार्य शरीर में मौजूद हार्मोन और प्रोटीन प्रदान करना है।

Platelets का कार्य

Platelets, चोट के कारण होने वाले रक्तस्राव को रोकते हैं। शरीर में इनकी पर्याप्त संख्या होनी चाहिए। यदि शरीर में इनकी संख्या बहुत कम हो तो मृत्यु भी हो सकती है। Platelets काउंट का पता सीबीसी यानी Complete Blood Count Test से लगाया जाता है। दरअसल, प्लेटलेट्स खून का एक हिस्सा होता है जो खून के थक्के जमने में मदद करता है।

प्लेटलेट्स चोट के कारण होने वाले रक्तस्राव (Bleeding) को रोकते हैं। अगर किसी कारण से Platelets 50 हजार से नीचे गिर जाते हैं, तो चिंता की कोई बात नहीं है। लेकिन इससे भी कम में ब्लीडिंग होती है। एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 1.5 से 4 लाख प्लेटलेट्स होते हैं। अगर किसी कारण से यह 50 हजार से नीचे आ जाता है तो चिंता की कोई बात नहीं है। लेकिन इससे भी कम में ब्लीडिंग होती है। अगर 10-20 हजार की संख्या रहती है तो यह स्थिति आपात स्थिति की है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts