Menu Close

पित्त रस कहां निर्मित होता है? यहा जानिये विस्तार से

यकृत पित्त की संरचना (९७-९८)% पानी, ०.७% पित्त लवण, ०.२% बिलीरुबिन, ०.५१% वसा (कोलेस्ट्रॉल, फैटी एसिड, और लेसिथिन), और २०० meq/l अकार्बनिक लवण है। पित्त के दो मुख्य वर्णक बिलीरुबिन हैं, जो पीला है, और इसका ऑक्सीकृत रूप बिलीवरडीन, जो हरा है। मिश्रित होने पर, वे मल के भूरे रंग के लिए जिम्मेदार होते हैं। वयस्क मनुष्यों में प्रतिदिन लगभग 400 से 800 मिलीलीटर पित्त का उत्पादन होता है। इस लेख में हम, पित्त रस कहां बनाता, स्रावित या निर्मित होता है इसे जानेंगे।

पित्त रस कहां निर्मित होता है

पित्त रस कहां निर्मित होता है

यकृत में निर्मित पित्त रस पित्ताशय में आकर एकत्र होता है। शरीर रचना और पाचन के संदर्भ में, पित्त एक गहरे हरे या पीले रंग का तरल पदार्थ है जो पाचन में सहायता करता है। यह कशेरुकियों के यकृत में बनता है। मानव शरीर में यकृत द्वारा पित्त का उत्पादन निरंतर होता रहता है जो पित्ताशय में जमा होता रहता है। इसका pH मान 7.7 होता है। मनुष्यों में, पित्त लगातार यकृत द्वारा निर्मित होता है और पित्ताशय की थैली में संग्रहीत और केंद्रित होता है। खाने के बाद, इस संग्रहीत पित्त को ग्रहणी में छोड़ दिया जाता है।

यह भी पढ़े:

Related Posts