Menu Close

OSD क्या होता है

हमने कई बार न्यूज चैनल्स और नूज़्पैपर में OSD पद के बारे में पढ़ा है। लेकिन जब भी हम ओएसडी ऑफिसर के बारें में सुनते है तब हम निश्चित तौर पर उसकी व्याख्या नहीं कर पाते की वह कौन है और उसका क्या कार्य है। इसीलिए हम इस लेख में, OSD क्या होता है यह जानेंगे।

OSD क्या होता है

OSD क्या होता है

भारत सरकार या कोई राज्य सरकार किसी विशेष कार्य को करने के लिए जिस अधिकारी की नियुक्ति करती है वह OSD (Officer on Special Duty) होता है। स्पेशल ड्यूटी पर एक अधिकारी भारत सरकार में एक सचिव और एक अवर सचिव के बीच की स्थिति के भारतीय सिविल सेवा में एक अधिकारी है। यह पद कोई आज का तैयार किया हुआ नहीं है बल्कि यह प्रथा भारत में ब्रिटिश काल से ही शुरू है।

1931 में एक सरकारी प्रवक्ता द्वारा केंद्रीय विधान सभा को इस प्रकार OSD पद समझाया गया था:

“सिविल सेवाओं में “ओएसडी अधिकारी” की नियुक्ति में दो प्रमुख मानदंड हैं –

  1. जब कोई अधिकारी अपनी नियुक्ति से सरकार को अपनी नियुक्ति में खर्च की तुलना में कहीं अधिक आर्थिक लाभ लाता है।
  2. जब सरकार पर बड़े अच्छे के लाभ के लिए एक निश्चित कार्रवाई करने का दायित्व होता है।

इसे भविष्य में उच्च स्तरीय पोस्टिंग के लिए प्रशिक्षण पद के रूप में भी उपयोग किया जाता है। जैसे की, जब रघुराम राजन ने आरबीआई गवर्नर के लिए नियुक्ति शुरू करने से पहले केंद्रीय वित्त मंत्रालय में ओएसडी के रूप में कार्य किया था और जब एस रंगनाथन को नियंत्रक और महालेखा परीक्षक नियुक्त किया गया था, तो उन्हें निवर्तमान सीएजी ए.के. रॉय और बाद में प्रभार दिया गया।

यह भी पढ़े –

Related Posts