Menu Close

PUC Certificate: पीयूसी सर्टिफिकेट क्या है और इसे ऑनलाइन कैसे बनाए

नया Motor Vehicle Act 2019 लागू होने के बाद ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को भारी जुर्माना भरना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों को Registration Certificate (RC), Vehicle Insurance, Driving License के अलावा एक और जरूरी दस्तावेज की जरूरत होती है जिसे प्रदूषण सर्टिफिकेट कहा जाता है. इसे पीयूसी भी कहते हैं। PUC का फुल फॉर्म ‘Pollution Under Control’ होता है। इस लेख में हम PUC Certificate क्या होता है और Offline तथा Online PUC Certificate Kaise Banaye विस्तार से जानेंगे।

Online PUC Certificate Kaise Banaye

PUC Certificate क्या होता है

वाहनों से निकलने वाला धुआं पर्यावरण के लिए हानिकारक है। पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए ऐसे प्रदूषण के लिए मानक तय किए गए हैं। इसके अनुसार, वाहन निरीक्षण के बाद जारी किया गया प्रमाण पत्र यह पुष्टि करता है कि आपके वाहन का धुआं प्रदूषण फैला रहा है, Pollution certificate (PUC) कहलाता है। यह भारत में सभी प्रकार के इंजन या मोटर वाहनों के लिए अनिवार्य है।

किसी भी वाहन का PUC सर्टिफिकेट वाहन की जांच के बाद ही दिया जाता है। प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं होने पर 10 हजार रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। हर राज्य में जुर्माने की राशि अलग-अलग है।

यदि आप कोई वाहन खरीदते हैं, तो उसके साथ एक Pollution certificate (PUC) दिया जाता है, जिसकी वैधता एक वर्ष की होती है। उसके बाद वाहन की जांच कर प्रदूषण प्रमाण पत्र बनवाना होता है। आमतौर पर PUC certificate की वैलिडिटी 6 महीने होती है यानी आपको हर 6 महीने में गाड़ी की जांच कर प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवाना होगा।

अगर आपका वाहन पेट्रोल से चलता है तो आपको सर्टिफिकेट के लिए 35 रुपये खर्च करने होंगे। डीजल वाहनों के लिए 50. अन्य राज्यों में यह कीमत अलग हो सकती है। याद रखें कि अगर आपका वाहन प्रदूषण नहीं कर रहा है, तब भी आपका चालान किया जा सकता है यदि आपके पास प्रमाण पत्र नहीं है या इसकी अवधि समाप्त हो गई है। इसलिए यह सर्टिफिकेट लेना जरूरी है।

PUC Certificate ऑफलाइन कैसे बनाए

PUC certificate ऑफलाइन बनाने के लिए, वाहन जाच केंद्र पर जाना होगा जो आपके शहर में मौजूद है। वहां जाने के बाद व्हीकल चेकिंग सेंटर के एग्जीक्यूटिव आपके वाहन के प्रदूषण की जांच करते हैं कि आपका वाहन कितना प्रदूषण दूर कर रहा है। उसी के अनुसार PUC certificate बनाया जाता है।

यदि जांच के समय वाहन में प्रदूषण की मात्रा निर्धारित मानक से अधिक है तो प्रदूषण जांच केंद्र को एक दिन के भीतर संबंधित अधिकारी को पंजीकरण संख्या देनी होगी, उसके बाद वाहन की दोबारा जांच की जा सकेगी, और कार्रवाई भी की जा सकती है।

Online PUC Certificate Kaise Banaye

Online PUC Certificate नहीं बनाया जा सकता, क्योंकि किसी भी वाहन का पीयूसी सर्टिफिकेट प्रदूषण जांच केंद्र के वाहन की जांच के बाद ही दिया जाता है। प्रदूषण परीक्षण करते समय, वाहन के साइलेंसर में एक Gas Analyzer लगाया जाता है, जो कंप्यूटर से जुड़ा होता है।

Gas Analyzer वाहन से निकलने वाले प्रदूषण के आंकड़ों की जांच करता है और कंप्यूटर को भेजता है। साथ ही कैमरा गाड़ी की नंबर प्लेट की फोटो भी लेता है। जिसके बाद कंप्यूटर प्रदूषण डेटा के साथ एक सर्टिफिकेट जारी करता है। हालांकि, अगर आपका प्रदूषण प्रमाणपत्र कहीं बना और खो गया है, तो आप इसे Online Download कर सकते हैं।

अगर आपका पीयूसी बना है, जो कहीं खो गया है या खो गया है, तो आप इसे दोबारा डाउनलोड कर सकते हैं। पीयूसी को ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट vahan.parivahan.gov.in पर जाएं।

वेबसाइट पर जाकर आप अपना वाहन पंजीकरण नंबर और चेसिस नंबर दर्ज करें। पंजीकरण और चेसिस नंबर आपके वाहन के Registration Certificate (RC) पर दिया गया है। इसके बाद ‘PUC Details’ पर क्लिक करें। इसके बाद आपका Online PUC Certificate Download हो जाएगा।

यह भी पढ़ें-

Related Posts