मेन्यू बंद करे

नाइट्रोजन क्या है और कैसे बनता है | Nitrogen in Hindi

नाइट्रोजन क्या है और कैसे बनता है – Nitrogen in Hindi: वायुमंडल में नाइट्रोजन 78 प्रतिशत मात्रा में मौजूद है। इसके बाद ऑक्सीजन का नंबर आता है, जो करीब 20 फीसदी है। जैव पदार्थों के लिए नाइट्रोजन चक्र बहुत आवश्यक क्रिया है। वनस्पति और जैव पदार्थों का नाइट्रोजन खाद के रूप में मनुष्यों और पशुओं के काम आता है।

नाइट्रोजन क्या है और कैसे बनता है

कुछ विशेष प्रकार के शिंबी पौधे (Leguminous Plants) नाइट्रोजन का सीधा यौगिकीकरण कर, उपयोगी नाइट्रोजन यौगिक बनाने की क्षमता रखते हैं। उनके अतिरिक्त, वायुमंडल में विद्युत विसर्जन द्वारा बना नाइट्रिक ऑक्साइड वर्षा के साथ आकर भूमि में नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ाता है।

भूमि से पौधे अपनी जड़ द्वारा नाइट्रोजन पदार्थों का अवशोषण करते हैं। इन सब क्रियाओं द्वारा वायु का मुक्त नाइट्रोजन वनस्पति और जीवें के काम आता है। दलहनी फसलों की फसल में पाए जाने वाले राइजोबियम नामक जीवाणु वायु नाइट्रोजन का मृदा में स्थिरीकरण करते हैं जिसे मृदा नाइट्रोजनीकरण कहते हैं।

नाइट्रोजन क्या है (Nitrogen in Hindi)

नाइट्रोजन एक रासायनिक तत्व है, जिसका प्रतीक N है। इसकी परमाणु संख्या 7 है। सामान्य तापमान और दबाव पर है, यह एक गैस है और पृथ्वी का लगभग 78% वायुमंडल नाइट्रोजन है। यह तत्व के रूप में सबसे अधिक उपलब्ध पदार्थ भी है। यह एक रंगहीन, गंधहीन, बेस्वाद और अक्सर निष्क्रिय गैस है। इसकी खोज 1773 में स्कॉटलैंड के वैज्ञानिक Ernest Rutherford ने की थी।

नाइट्रोजन कैसे बनता है

नाइट्रोजन कैसे बनता है

नाइट्रोजन को वायुमंडल से भी तैयार किया जा सकता है, जिसमें रासायनिक क्रिया या भौतिक साधनों द्वारा ऑक्सीजन को अलग करना पड़ता है। यदि वायु Pyrogallic Acid या Acidic Chromous Chloride, (Cr Cl2), या Vanidase Sulfate, (VSO4) के क्षारीय घोल से प्रवाहित होती है, तो रासायनिक क्रिया द्वारा ऑक्सीजन का विघटन होता है।

शेष गैस नाइट्रोजन होगी, इसमें थोड़ी मात्रा में अन्य अक्रिय गैसों को मिलाया जाएगा। तरल कणों के कुशल आसवन द्वारा औद्योगिक उद्देश्यों के लिए अब नाइट्रोजन प्राप्त की जाती है। इसका क्वथनांक ऑक्सीजन (Boiling Point Oxygen) से कम है। इसके कारण, इसकी ऑक्सीजन को पहले वाष्प के रूप में छोड़ा जाता है और अवशेष मुख्य रूप से तरल में नाइट्रोजन बनता है।

यह भी पढ़े:

Related Posts