Menu Close

एनईएफटी (NEFT) का मतलब क्या है

हमने कई बार एनईएफटी (NEFT) के बारें में सुना है; जिसे हम मोटे तौर पर वित्तीय सेवाओं के रूप से जानते है। लेकिन वास्तव में एनईएफटी का क्या अर्थ होता है और भूमिका क्या होती है, इसे भी हमे जान लेना आवश्यक है। तो इस लीख में हम, एनईएफटी (NEFT) का मतलब क्या है इसे जानेंगे।

एनईएफटी (NEFT) का मतलब क्या है

एनईएफटी (NEFT) का मतलब क्या है

नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) एक इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली है जो पूरे देश में सीधे एक दुसरे के साथ भुगतान की सुविधा प्रदान करती है। इस सुविधा का उपयोग करके, आप किसी भी बैंक शाखा से देश में किसी भी अन्य बैंक शाखा में खाता रखने वाले किसी भी व्यक्ति को इलेक्ट्रॉनिक रूप से धन हस्तांतरित कर सकते हैं जो एनईएफटी योजना का एक हिस्सा है। आप इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग के डिजिटल मोड का उपयोग करके एनईएफटी ट्रांसफर भी कर सकते हैं।

नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर या एनईएफटी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा बनाए रखा गया एक इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर सिस्टम है, जिसका स्वामित्व और संचालन भारतीय रिजर्व बैंक के पास है। आरबीआई की एनईएफटी सेवा का उपयोग करके अन्य प्रतिभागी बैंक के साथ क्रेडिट खाते में धनराशि स्थानांतरित की जाती है। RBI सेवा प्रदाता के रूप में कार्य करता है और क्रेडिट को दूसरे बैंक के खाते में स्थानांतरित करता है। आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुसार, एनईएफटी 16 दिसंबर, 2019 से 24×7 उपलब्ध है।

30 नवंबर 2019 तक, एनईएफटी की सुविधा देश भर में 216 बैंकों की 1,48,477 शाखाओं/कार्यालयों में और एनईएफटी-सक्षम बैंकों की वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन उपलब्ध थी। एनईएफटी ने आसानी और दक्षता के कारण लोकप्रियता हासिल की है जिसके साथ लेनदेन संपन्न किया जा सकता है। एनईएफटी का उपयोग करके हस्तांतरित की जा सकने वाली धनराशि की न्यूनतम या अधिकतम कोई सीमा नहीं है।

इस लेख में हमने, एनईएफटी (NEFT) का मतलब क्या है इसे जाना। बाकी ज्ञानवर्धक जानकारी केलिए नीचे दिए गए लेख पढ़े:

Related Posts