Menu Close

नारी निकेतन क्या होता है

16 वर्ष से अधिक आयु की अनाथ लड़कियों, अविवाहित माताओं, विधवाओं, परित्यक्त, तिरस्कृत और निराश्रित महिलाओं को सामाजिक और शैक्षिक सुरक्षा प्रदान करना ‘Nari Niketan’ योजना का उद्देश्य हैं। इस लेख में हम नारी निकेतन क्या होता है जानेंगे।

नारी निकेतन क्या होता है

नारी निकेतन क्या होता है

नारी निकेतन एक संस्था है, जिसमें अनाथों, विधवाओं, निराश्रितों, तिरस्कृत, परित्यक्त महिलाओं को आश्रय और सहायता प्रदान करने और उनके मुफ्त भरण-पोषण और पुनर्वास की सुविधा दी जाती है। यह नारी निकेतन देश के विभिन्न राज्यों में संचालित है। संस्था में इन महिलाओं के नि:शुल्क आवास, भरण-पोषण, शिक्षा, प्रशिक्षण एवं पुनर्वास की व्यवस्था की जाती है।

आमतौर पर सरपंच, नगरीय निकाय, विधायक, सांसद पंजीकृत स्वयंसेवी संस्थाओं के अध्यक्ष और राजपत्रित अधिकारी द्वारा महिला की आश्रय विहीनता संबंधी प्रमाण पत्र देने पर कलेक्टर की अध्यक्षता में संबंधित नारी निकेतन संस्था की परामर्शदात्री समिति द्वारा संस्था में महिला को प्रवेश दिया जाता है।

नारी निकेतन की स्थापना समाज द्वारा प्रताड़ित विधवाओं, परित्यक्त, बेसहारा, अविवाहित माताओं और महिलाओं को आश्रय देने के उद्देश्य से की जाती है। इन नारी निकेतनों में महिलाओं और उनके 7 वर्ष तक के बच्चों को रखा जाता है और महिलाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर उनके पुनर्वास की व्यवस्था की जाती है।

ऐसी महिलाओं द्वारा नो-शेल्टर सर्टिफिकेट के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। संस्थाओं के संचालन और रखरखाव के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में एक सलाहकार समिति का गठन किया जाता है। प्रत्येक नारी निकेतन में 50 महिलाओं की क्षमता रहती हैं, कई जगह ज्यादा भी हो सकती है। मध्य प्रदेश में यह नारी निकेतन सतना, उज्जैन, भोपाल और ग्वालियर में संचालित है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!