Menu Close

मुलेठी के फायदे और नुकसान

Health Benefits and Side Effects of Mulethi: मुलेठी एक जड़ी बूटी है, जो सूखी लकड़ी के समान होती है। भारतीय रसोई में कई ऐसी चीजें मौजूद होती हैं जो स्वास्थ्य गुणों से भरपूर मानी जाती हैं। जिसमें से मुलेठी एक आयुर्वेदिक औषधि है। मुलेठी विटामिन-ए और ई से भरपूर होती है। इसके अलावा यह कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सेलेनियम, फास्फोरस, सिलिकॉन और जिंक जैसे खनिजों का भी अच्छा स्रोत है। इस लेख में हम, मुलेठी के फायदे और नुकसान क्या है जानेंगे।

मुलेठी के फायदे और नुकसान

मुलेठी के फायदे (Mulethi Ke Fayde)

1. खांसी से राहत

खांसी की समस्या आम समस्या है, जो किसी को भी हो सकती है। अगर मौसम में बदलाव होता है, तब कई लोगों को खांसी की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके लिए आप मुलेठी का एक टुकड़ा चूसकर खा सकते हैं, इससे खांसी में आराम मिल सकता है।

2. मुंह के छालों से दिलाएं राहत

मुंह में छालों की समस्या अक्सर कई लोगों को देखने को मिलती है। मुंह के छालों को दूर करने के लिए आप मुलेठी का एक टुकड़ा शहद लगाकर चूस सकते हैं। इससे अल्सर में आराम मिल सकता है।

3. हिचकी से राहत

अगर आप हिचकी से परेशान हैं तो घबराएं नहीं हिचकी दूर करने के लिए मुलेठी का एक टुकड़ा मुंह में रख सकते हैं या फिर शहद के साथ चूस सकते हैं। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व हिचकी को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

4. इम्यूनिटी में सुधार

मुलेठी के गुण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) को बढ़ाने का भी काम करते हैं। मुलेठी के चूर्ण में शहद और घी का मिश्रण बनाकर उसका सेवन करने से आपको बहुत लाभ होगा।

5. पेट के लिए बेहतर

गलत खान-पान के कारण कब्ज, एसिडिटी और पेट से जुड़ी समस्याएं परेशान करती हैं। कब्ज से राहत पाने के लिए आप मुलेठी की चाय का सेवन कर सकते हैं। मुलेठी में मौजूद ग्लाइसीराइजिक एसिड गैस्ट्राइटिस और अल्सर जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

6. थकान या कमजोरी में उपयोगी

थकान या कमजोरी में मुलेठी का सेवन फायदेमंद होता है। अगर आपको हमेशा थकान महसूस होती है या कमजोरी रहती है तो आपको मुलेठी का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके लिए दो ग्राम मुलेठी का चूर्ण एक चम्मच घी और एक चम्मच शहद में मिलाकर गर्म दूध में मिलाकर पीएं। इसका फायदा आपको जल्द ही दिखने लगेगा।

7. बालों को लंबा और घना बनाएं

मुलेठी बालों के लिए भी काफी फायदेमंद मानी जाती है। अगर आप रूखे और बेजान बालों की समस्या से परेशान हैं तो मुलेठी का इस्तेमाल कर सकते हैं। मुलेठी और आंवले के चूर्ण को बराबर मात्रा में पानी में मिलाकर पीने से बाल और त्वचा स्वस्थ रहती है।

मुलेठी के नुकसान (Mulethi Ke Nuksan)

1. मुलेठी के अत्यधिक उपयोग से पुरुषों में मांसपेशियों का कमजोर और कमजोर होना, पुरानी थकान, सिरदर्द, सूजन, सूजन, सांस लेने में तकलीफ, जोड़ों में अकड़न और टेस्टोस्टेरोन का स्तर भी हो सकता है।

2. सीमित मात्रा में मुलेठी का सेवन करने से शरीर में पोटैशियम की कमी, उच्च रक्तचाप और मांसपेशियों में कमजोरी हो सकती है। किडनी, मधुमेह और गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए।

3. इसका उपयोग उच्च रक्तचाप, मोटापा, मधुमेह, एस्ट्रोजन-संवेदनशील विकार, गुर्दे, हृदय या यकृत और मासिक धर्म की समस्याओं जैसी चिकित्सीय स्थितियों वाले लोगों द्वारा नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

अस्वीकरण: यहां दी गई जानकारी सामान्य जानकारी पर आधारित है। कृपया इसे अपनाने से पहले किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें।

Related Posts