मेन्यू बंद करे

मूंगा रत्न पहनने के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Moonga Stone in Hindi

मूंगा रत्न पहनने के फायदे और नुकसान | Benefits and Side Effects of Moonga Stone in Hindi: जीवन में ग्रहों के अशुभ प्रभाव को कम करने और शुभ प्रभावों को बढ़ाने के लिए रत्न शास्त्र में कई प्रकार के रत्नों के बारे में बताया गया है। मूंगा रत्न सभी रत्नों में सर्वोच्च गुणवत्ता वाला माना जाता है। इस Moonga Ratna को हम अंग्रेजी में ‘Coral‘ कहते हैं। यह रत्न समुद्र में कई फीट नीचे गहरी चट्टानों में पाया जाता है। यदि किसी की कुंडली में मांगलिक दोष हो तो मूंगा धारण करना लाभकारी होता है। मूंगा मांगलिक दोष के प्रभाव को कम कर देता है।

मूंगा रत्न पहनने के फायदे और नुकसान

ज्योतिष के अनुसार मूंगा रत्न मेष और वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल के साथ जुड़ा हुआ है। यदि कुंडली में मंगल की स्थिति कमजोर हो तो उन लोगों को Moonga Ratna धारण करने की सलाह दी जाती है। इसका रंग लाल, सिंदूर, गेरू, सफेद और काला होता है। जिनके पास मेष, वृश्चिक या लग्न और सिंह, धनु, मीन है, वे लोग भी मूंगा धारण कर सकते हैं। साथ ही जिन लोगों में साहस, आत्मविश्वास, रक्त संबंधी विकारों की कमी होती है, जो सपने देखने से डरते हैं, वे अपनी कुंडली दिखाकर मूंगा धारण कर सकते हैं। मूंगे को माणिक, पुखराज, मोतियों के साथ भी पहना जा सकता है।

मूंगा रत्न पहनने के फायदे

1. जिन लोगों में साहस की कमी होती है, निर्णय लेने में भ्रम होता है, रक्त की कमी होती है, उनके लिए मूंगा रत्न बहुत फायदेमंद होता है।
मेष लग्न या राशि के जातकों के लिए मंगल उनका स्वामी होता है और मंगल का Moonga Ratna धारण करने से मंगल की शक्ति में वृद्धि होती है। जिससे ये उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता, आकर्षक व्यक्तित्व और शक्ति प्रदान करते हैं।

2. बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिनका बहुत सारा धन नष्ट हो जाता है और वे कर्जदार हो जाते हैं, ऐसे में व्यक्ति को मूंगा रत्न अवश्य धारण करना चाहिए। यह रत्न इतना शक्तिशाली और प्रभावशाली होता है कि व्यक्ति को धन और कर्ज के सबसे बड़े नुकसान से मुक्ति मिल जाती है।

3. ऐसे में उस स्त्री और व्यक्ति को मूंगा रत्न धारण करना चाहिए क्योंकि यह Munga Ratna इतना शक्तिशाली होता है। और इसे पहनने के बाद लंबे समय से रिलेशनशिप में रहने वाले व्यक्ति के परिवार वाले भी उन्हें स्वीकार करते हैं। जिस व्यक्ति से व्यक्ति प्यार करता है और उससे शादी कर लेता है।

4. अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में बहुत कुछ करना चाहता है, लेकिन नहीं कर पाता है, तो वह कड़ी मेहनत नहीं करता है, भले ही वह कड़ी मेहनत करता है, तो वह असफल हो जाता है। ऐसे लोग जो अपने जीवन में कठिन परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं उन्हें मूंगा रत्न धारण करना चाहिए।

5. अगर कोई व्यक्ति इन सभी परेशानियों से छुटकारा पाना चाहता है तो किसी अनुभवी ज्योतिषी से सलाह लेकर मूंगा रत्न धारण करें। क्योंकि इसे धारण करने से व्यक्ति की सभी समस्याओं का समाधान मिल जाता है और वह अपने जीवन के सभी क्षेत्रों में प्रगति करता है और कार्य में सफलता प्राप्त करता है।

6. जब कोई व्यक्ति इस मूंगा रत्न को धारण करता है, तो यह व्यक्ति के जीवन में आने वाले सभी खतरों के बारे में पहले से ही आगाह कर देता है। यह रत्न इतना प्रभावशाली और शक्तिशाली होता है कि जब भी किसी व्यक्ति पर कोई खतरा आ जाता है। तब यह मूंगा पत्थर अपना रंग बदलता है और उस व्यक्ति को संकेत देता है कि आप सावधान रहें, कोई बड़ा खतरा आपके ऊपर आ रहा है।

7. सिंह लग्न और सिंह राशि के लिए मूंगा भाग्य का चमकीला होता है। सिंह राशि के जातकों को लगता है कि उनकी मेहनत अधिक है तो फल नहीं मिल रहा है। यदि इनका भाग्य साथ नहीं दे रहा है तो ये अपने भाग्य को जगाने के लिए मूंगा रत्न धारण कर सकते हैं।

8. मूंगा मंगल ग्रह का रत्न है। यह शक्ति, शक्ति, साहस और ऊर्जा के लिए पहना जाता है। रक्त संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या के लिए Moonga Ratna धारण करने से सुस्ती बनी रहती है। इस रत्न को धारण करने से मंगल की दशा मजबूत होती है। जिससे इस ग्रह के शुभ प्रभाव बढ़ने लगते हैं। मूंगा अपने सुंदर और आकर्षक स्वभाव के कारण नवरत्नों में से एक माना जाता है।

मूंगा रत्न पहनने के नुकसान

1. यदि कोई व्यक्ति बिना किसी ज्योतिषीय परामर्श के मूंगा रत्न धारण करता है तो उस व्यक्ति की जान को सबसे ज्यादा खतरा होता है। और ऐसे में मूंगा रत्न धारण करने वाले व्यक्ति को अपने जीवन साथी का सारा बोझ उठाना पड़ता है।

2. इस रत्न के बुरे प्रभाव से जातक के दाम्पत्य जीवन में सभी परेशानियां आ सकती हैं। परिवार में कलह की तरह आपस में मनमुटाव और व्यक्ति की वाणी का भी बहुत प्रभाव पड़ता है। ऐसे में जातक का रिश्ता टूट सकता है। क्योंकि यह मूंगा पत्थर मंगल ग्रह का कारक है इसलिए जातक पर मंगल की खराब स्थिति और भी बढ़ जाती है।

3. जब कोई व्यक्ति किसी अनुभवी ज्योतिषी की सलाह के बिना इस रत्न को धारण करता है, तो उस व्यक्ति का स्वास्थ्य खराब होने की संभावना सबसे अधिक होती है। इसलिए इस मूंगा रत्न को बिना किसी ज्योतिषी की सलाह के धारण न करें।

4. इसे मंगल की खराब दशा को कम करने के लिए पहना जाता है। लेकिन कभी-कभी यह उल्टा हो जाता है, जातक को मंगल और मूंगा रत्न दोनों का ही बुरा प्रभाव झेलना पड़ता है। इसलिए जब भी कोई व्यक्ति Munga Ratna धारण करता है तो उससे पहले उसकी कुंडली में मंगल दोष अवश्य दिखाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

Related Posts