Menu Close

माणिक रत्न के फायदे और नुकसान | Advantages and Disadvantages of Ruby Stone

माणिक (Ruby stone) एक ऐसा रत्न है जिसका रंग गुलाबी से लेकर रक्त के रंग का होता है। यह एक विशेष प्रकार का एल्युमिनियम ऑक्साइड है। इसका लाल रंग इसमें मौजूद क्रोमियम के कारण होता है। इसका नाम ‘Ruby’ लैटिन शब्द ‘Ruber’ से आया है, जिसका अर्थ है लाल। Ruby stone खगोलविद्या या ज्योतिष में विशेष महत्व रखता है। इस लेख में हम माणिक रत्न के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Ruby Stone) क्या है जानेंगे।

माणिक रत्न के फायदे और नुकसान

माणिक सभी रत्नों में सबसे सुंदर माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार Ruby stone को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। यह लाल रंग का है और काफी महंगा भी है। ज्वेलरी ब्रेसलेट, नेकलेस, रिंग जैसे ज्वेलरी बनाने में ज्यादातर माणिक रत्नों का इस्तेमाल किया जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माणिक रत्न को सूर्य से संबंधित माना गया है। माणिक्य में सकारात्मक ऊर्जा पाई जाती है इसे धारण करने के बाद व्यक्ति अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा का अनुभव करने लगता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जो लोग माणिक्य धारण करते हैं उन्हें सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

माणिक रत्न के फायदे

1. Ruby stone आपको धन से भरपूर बनाती हैं

Ruby stone आपको सुख-समृद्धि से परिपूर्ण बनाता है और यदि आपकी वजह से आपकी मां को कोई परेशानी होती है तो इससे मुक्ति भी मिलती है।

2. Health problems को दूर करें

जिन लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर होता है, उनके लिए रूबी स्टोर अच्छा माना जाता है। अपाचे, पीलिया, डायरिया, हाई और लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्याओं से पीड़ित व्यक्ति के लिए यह रत्न बहुत फायदेमंद होता है। माणिक्य रत्न धारण करने से आपको Health problems में लाभ मिलेगा क्योंकि सूर्य स्वास्थ्य का कारक है। यह आपके अभिमान को भी बढ़ाता है और आपको बुद्धिमान बनाता है।

3. रचनात्मकता की क्षमता बढ़ाने में सहायक

ज्योतिषियों के अनुसार, माणिक रत्न इंजीनियरों, सुनारों, अभिनेताओं, कलाकारों, सरकारी अधिकारियों, स्टॉकब्रोकर, कपड़ा या सूती डीलरों और नवीन क्षेत्रों में लोगों के लिए बेहद फायदेमंद और प्रभावशाली माना जाता है।

4. नेतृत्व करने की क्षमता बढ़ाने में सहायक

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जो व्यक्ति माणिक रत्न धारण करता है उसमें नेतृत्व करने की क्षमता काफी अधिक होती है। उन्हें सरकारी सेवाओं में पदों से बहुत समर्थन और प्रशंसा मिलती है।

5. Self-confidence बढ़ाने में मददगार

जिस व्यक्ति में Self-confidence की कमी होती है, उसे ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माणिक्य धारण करना चाहिए। इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति में आत्मविश्वास की क्षमता बढ़ती है। इतना ही नहीं इस रत्न को धारण करने से भक्ति में भ्रम की समस्या दूर हो जाती है।

6. व्यक्तित्व के विकास में मदद

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार Ruby stone की गर्मी और तीव्रता व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा भर देती है। जो व्यक्ति इसे पहनता है उसके व्यक्तित्व में काफी सुधार होता है। इसे पहनने से आंखों की रोशनी और रक्त संचार में सुधार होता है।

माणिक रत्न के नुकसान

  1. इस रत्न का सूर्य से संबंध होने के कारण आप अपने जीवन में हृदय (Heart), आंख (Eyes) या अन्य रोगों से पीड़ित हो सकते हैं। इन सबके साथ ही व्यक्ति में अहंकार की भावना जागृत होती है।
  2. यह माणिक व्यक्ति के कार्यस्थल पर वरिष्ठों के साथ विवाद पैदा कर सकता है।
  3. अगर जातक इस रत्न को ठीक से नहीं पहनता है तो वह अपने जीवन साथी के साथ संबंध खराब कर सकता है।
  4. यह व्यक्ति की कोमल भावनाओं, व्यवहार और स्वभाव में बदलाव ला सकता है।
  5. Ruby stone के दुष्प्रभाव के कारण व्यक्ति सही और गलत निर्णय लेने की क्षमता खो देता है। जिससे व्यक्ति विलासितापूर्ण जीवन व्यतीत करने लगता है। वह अपने धन का अधिक से अधिक व्यय करने लगता है।
  6. माणिक्य रत्न को ठीक से न पहनने से आपको धन संबंधी लाभ मिल सकता है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!