मेन्यू बंद करे

लाइकोपीन के फायदे और नुकसान

Lycopene एक प्रिस्क्रिप्शन दवा है जो कैप्सूल (Capsule) के रूप में उपलब्ध है। यह दवा विशेष रूप से एंटीऑक्सिडेंट के इलाज के लिए प्रयोग की जाती है। लाइकोपिन की ली जाने वाली खुराक पूरी तरह से रोगी के वजन, लिंग, आयु और पिछले चिकित्सा इतिहास पर निर्भर करती है। इसकी खुराक भी रोगी की समस्या और दवा देने के तरीके पर आधारित होती है। इस आर्टिकल में हम लाइकोपीन के फायदे और नुकसान क्या है जानेंगे।

लाइकोपीन कैप्सूल के फायदे और नुकसान

लाइकोपीन के फायदे – Benefits of Lycopene in Hindi

1. हड्डी को मजबूत करता है (Strengthens Bones)

केवल विटामिन के और कैल्शियम ही ऐसी चीजें नहीं हैं जो आपकी हड्डियों को मजबूत रखती हैं। लाइकोपीन कैप्सूल (Lycopene Capsule) हड्डियों में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (Oxidative stress) को दूर करने में भी मदद करता है जो भंगुर और कमजोर हड्डी संरचना का कारण बनता है। इसलिए पुरुषों को लाइकोपीन कैप्सूल का सेवन करना चाहिए। यह एपोप्टोसिस (Apoptosis) को धीमा करता है जो हड्डियों को कमजोर करता है और हड्डियों के सेलुलर आर्किटेक्चर को मजबूत करता है।

3. प्रोस्टेट कैंसर से बचाता है (Prevents from Prostate Cancer)

प्रोस्टेट कैंसर को पुरुषों में शीर्ष तीन कैंसर में से एक माना जाता है। आज पूरी दुनिया में पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। प्रोस्टेट कैंसर को संभवतः लाइकोपीन के स्वस्थ सेवन से रोका जा सकता है। पहले से मौजूद प्रोस्टेट कैंसर वाले लोगों के लिए कैंसर सेल प्रसार को कम करने और नियंत्रित करने के लिए सर्जरी से पहले एक लाइकोपीन युक्त आहार निर्धारित किया जाता है।

3. शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाता है (Increases Sperm Count)

पुरुषों में लाइकोपीन कैप्सूल (Lycopene Capsule) से शुक्राणुओं की संख्या के बीच एक उच्च संबंध है। पुरुषों को इसका सेवन करना चाहिए। हालांकि, पुरुषों में बांझपन के इलाज में लाइकोपीन के प्रभाव को देखने के लिए शोध किया जा रहा है। चूंकि लाइकोपीन शक्तिशाली मुक्त कट्टरपंथी सफाई क्षमताओं के साथ एक ज्ञात एंटीऑक्सीडेंट है, इसलिए यह यौगिक शुक्राणु स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

लाइकोपीन के नुकसान – Side Effects of Lycopene in Hindi

लाइकोपीन कैप्सूल (Lycopene Capsule) के सबसे आम नुकसान मतली या उल्टी, दस्त और अपच हैं। कुछ मामलों में लाइकोपीन के अन्य दुष्प्रभाव भी देखे जा सकते हैं। लाइकोपिन के ये दुष्प्रभाव आमतौर पर अस्थायी होते हैं और उपचार पूरा होने के साथ गायब हो जाते हैं। हालांकि, अगर ये समस्याएं लंबे समय तक बनी रहती हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

कृपया याद रखें कि हर मरीज और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए, लाइकोपिन की खुराक रोग, प्रशासन के तरीके, रोगी की आयु, रोगी के चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर भिन्न हो सकती है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts