Menu Close

लवण जल अपघटन क्या है

लवण एक एसिड के एक या एक से अधिक हाइड्रोजन परमाणुओं को एक आधार के एक या एक से अधिक धनायनों के साथ बदलकर बनने वाला यौगिक है। खाद्य नमक एक प्रमुख लवण है। इस लेख में हम लवण जल अपघटन क्या है जानेंगे।

लवण जल अपघटन क्या है

लवण जल अपघटन क्या है

लवण का जल अपघटन एक उत्क्रमणीय अभिक्रिया है जिससे साम्यावस्था स्थापित हो जाती है, इसे अपघटन संतुलन कहते हैं। संपूर्ण लवण हाइड्रोलाइज्ड नहीं होता है, लेकिन इसकी थोड़ी मात्रा ही हाइड्रोलाइज्ड होती है। इसे हाइड्रोलिसिस की मात्रा कहा जाता है और हाइड्रोलिसिस की मात्रा को ‘v’ या ‘h’ द्वारा व्यक्त किया जाता है।

लवण का जल-अपघटन एक उत्क्रमणीय अभिक्रिया है जिससे साम्यावस्था स्थापित हो जाती है, इसे अपघटन संतुलन कहते हैं। संपूर्ण लवण हाइड्रोलाइज्ड नहीं होता है, लेकिन इसकी थोड़ी मात्रा ही हाइड्रोलाइज्ड होती है। इसे हाइड्रोलिसिस की मात्रा कहा जाता है और हाइड्रोलिसिस की मात्रा को ‘v’ या ‘h’ द्वारा व्यक्त किया जाता है।

जब लवण को पानी में घोला जाता है, तो लवण के धनायन पानी के आयन और लवण के ऋणात्मक आयनों के साथ पानी के धनायन के साथ और लवण के आयनों के साथ पानी के धनायन के साथ प्रतिक्रिया करते हैं, जिससे H+ की सांद्रता बदल जाती है। .

लवण का जल-अपघटन एक उत्क्रमणीय अभिक्रिया है जिससे साम्यावस्था स्थापित हो जाती है, इसे अपघटन संतुलन कहते हैं। इस संतुलन पर लागू नियतांक को हाइड्रोलाइटिक स्थिरांक (Hydrolytic constant) कहा जाता है, इसे ‘ख’ द्वारा व्यक्त किया जाता है। संपूर्ण लवण हाइड्रोलाइज्ड नहीं होता है, लेकिन इसकी थोड़ी मात्रा ही हाइड्रोलाइज्ड होती है। इसे जल अपघटन की मात्रा कहते हैं।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!