Menu Close

किस देश की मिट्टी मसालों की तरह खाई जाती है

अलग-अलग देशों में उगाए जाने वाले मसालों का स्वाद भी अलग-अलग होता है। उन मसलों का स्वाद वहां की मिट्टी, मौसम आदि पर निर्भर करता है। लेकिन क्या होगा अगर लोग एक जगह की मिट्टी को मसाला समझकर खाने लगे। जी हां, धरती पर एक ऐसी जगह है, जहां की मिट्टी न सिर्फ बहुत स्वादिष्ट होती है, बल्कि सेहत के लिए भी इतनी अच्छी होती है कि लोग इसे खाने में मसाले की तरह मिलाकर खाते हैं। तो इस लेख में आप, किस देश की मिट्टी मसालों की तरह खाई जाती है इसे जानेंगे।

किस देश की मिट्टी मसालों की तरह खाई जाती है

ईरान देश के होरमूज आइलैंड (Hormuz Island) की मिट्टी मसालों की तरह खाई जाती है। वैसे तो यह द्वीप अपने खूबसूरत पहाड़ों की दृष्टि से भी खास है, लेकिन इससे भी बड़ी विशेषता इन पहाड़ों की मिट्टी है। यह मिट्टी इतनी रंगीन है कि इस द्वीप को रेनबो आइलैंड भी कहा जाता है। वैसे तो इस आइलैंड के खूबसूरत रंग-बिरंगे पहाड़ों की तस्वीरें वायरल होती रहती हैं, लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि इन पहाड़ों की मिट्टी को मसाले की तरह खाया जाता है। यह मिट्टी बहुत ही स्वादिष्ट होती है और यहां आने वाले पर्यटक इस मिट्टी का स्वाद जरूर चखते हैं। वैसे तो पहले लोग मिट्टी खाने से झिझकते हैं, लेकिन गाइड की सलाह पर खाते हैं। वहा के लोग इन मिट्टी को स्वादिष्ट तथा पौष्टिक समझते है।

मिट्टी कई तरह के खनिजों से भरपूर होती है

पारस की खाड़ी में इस बेहद खूबसूरत द्वीप की मिट्टी खनिजों से भरपूर है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक इस मिट्टी में बहुत सारा लोहा और करीब 70 तरह के खनिज पाए जाते हैं. इसके अलावा इन पहाड़ों पर नमक के टीले भी मौजूद हैं। साथ ही इन पर शैल, मिट्टी और लोहे की मिट्टी की परतें हैं, जिसके कारण ये पहाड़ कई रंगों में दिखाई देते हैं। ब्रिटिश जियोलॉजिकल सर्वे के मुख्य भूवैज्ञानिक डॉ. कैथरीन गुडइनफ का कहना है कि लाखों साल पहले फारस की खाड़ी और उसके आसपास के उथले समुद्रों में नमक की एक मोटी परत बन गई थी। फिर उसके ऊपर नई परतें बनने लगीं।

ईरान देश के होरमूज आइलैंड (Hormuz Island) की मिट्टी मसालों की तरह खाई जाती है।

होरमूज आइलैंड के लाल मिट्टी का इस्तेमाल चटनी के रूप में किया जाता है। इस सॉस को सोरख कहा जाता है और इसे लगभग पकाए जाने के कारण फ्लैटब्रेड पर फैलाया जाता है। इसके पाक उपयोगों के अलावा, लाल मिट्टी का उपयोग पेंटिंग के लिए स्थानीय कलाकारों, रंगाई, सिरेमिक और सौंदर्य प्रसाधनों के निर्माण में भी किया जाता है।

यह भी पढ़े:

Related Posts

error: Content is protected !!