Menu Close

करी पत्ता का दूसरा नाम क्या है

करी पत्ते (Kari Patta) के अंदर कई औषधीय गुण भी होते हैं, जो आपकी सेहत को बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं। इसके इस्तेमाल से बालों और त्वचा को पोषण देने के साथ-साथ आपका शरीर भी अंदर से फिट रहता है। करी पत्ता खाने के स्वाद और सुगंध दोनों को बढ़ाता है और दक्षिण भारतीय व्यंजनों में इसका बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। करी पत्ते खाने के स्वाद के अलावा सेहत को भी स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इस लेख में हम करी पत्ता का दूसरा नाम क्या है जानेंगे।

करी पत्ता का दूसरा नाम क्या है

करी पत्ता का दूसरा नाम क्या है

करी पत्ता का दूसरा नाम मीठा नीम है, जिसका वैज्ञानिक नाम मुरैना कोएनिगि (Murraya koenigii) है। करी पत्ता की ताजी पत्तियां भारतीय व्यंजनों और भारतीय पारंपरिक दवाओं का एक अनिवार्य हिस्सा हैं। इसे दक्षिणी और पश्चिमी तट भारतीय खाना पकाने में सबसे व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

करी पत्ते के अंदर मौजूद विटामिन ए और सी का संयोजन लीवर में होने वाले किसी भी नुकसान को ठीक करने और इसे ठीक से काम करने में मददगार साबित होता है। करी पत्ते के अंदर ऐसे तत्व भी होते हैं, जो आपके शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल कर शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मददगार साबित होते हैं। जर्नल ऑफ चाइनीज मेडिसिन में प्रकाशित शोध से पता चला है कि करी पत्ते के अंदर एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जिससे आपका रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

अगर आप अक्सर सर्दी-जुकाम जैसी समस्या से परेशान रहते हैं। अगर आपके सीने में कफ जमा हो जाता है और आप साइनसाइटिस से पीड़ित हैं, तो अपने आहार में करी पत्ते को शामिल करें। अगर आपका पेट हर समय खराब रहता है, आप जो भी खाते हैं वह ठीक से नहीं पचता है, तो अपने आहार में करी पत्ते को शामिल करें। आयुर्वेद में माना जाता है कि करी पत्ते में ऐसे गुण होते हैं, जो किसी भी खाद्य पदार्थ को नर्म करके उसे सुपाच्य बना देते हैं।

नियमित रूप से करी पत्ते का सेवन करने से रक्त में शुगर का स्तर नियंत्रण में रहता है। जर्नल ऑफ प्लांट फूड फॉर न्यूट्रिशन में प्रकाशित शोध से पता चला है कि अगर आप करी पत्ते का सेवन करते हैं तो इससे आपके रक्त में शुगर का स्तर नहीं बढ़ता है और इंसुलिन का उत्पादन ठीक से होता है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!