मेन्यू बंद करे

क्या IAS अधिकारी बनने के लिए अंग्रेजी आना जरूरी है, तैयारी से पहले जान लें जवाब

Importance of English for IAS Officer: लोक संघ सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है और इसे पास करने के लिए छात्रों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। यूपीएससी परीक्षा के बारे में अक्सर कहा जाता है कि अंग्रेजी में परीक्षा देने वालों को ही सफलता मिलती है, लेकिन ऐसा नहीं है और हिंदी माध्यम में पढ़ने वाले कई छात्र यूपीएससी परीक्षा पास करने के बाद आईएएस अधिकारी बन गए हैं। तो चलिए इस लेख में, क्या IAS बनने के लिए अंग्रेजी आना जरूरी है और यदि है तो अंग्रेजी की आवश्यकता क्यों है, जानते हैं।

क्या IAS बनने के लिए अंग्रेजी आना जरूरी है

क्या IAS बनने के लिए अंग्रेजी आना जरूरी है

यूपीएससी या IAS परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए बहुत अच्छी अंग्रेजी की आवश्यकता नहीं है। लेकिन इसके लिए अंग्रेजी का ज्ञान होना जरूरी है ताकि अंग्रेजी जानने वाला व्यक्ति यदि किसी सामान्य विषय पर कुछ कहता है तो वह उसे समझ सकता है। या अगर आप कुछ कहना चाहते हैं, तो आप इसे इस तरह से कह सकते हैं कि सामने वाला समझ सके।

UPSC परीक्षा के अंग्रेजी के पेपर में तीन प्रकार के प्रश्न होते हैं, जो अंग्रेजी समझ से संबंधित होते हैं। इसमें अंग्रेजी में एक निबंध लिखना, अंग्रेजी के पैसेज को 1/3 तक संक्षिप्त करना और अंग्रेजी पैसेज से पूछे गए सवालों के जवाब देना शामिल है। इन प्रश्नों को हल करने के लिए इन भागों को समझने के बाद आपको उतनी ही अंग्रेजी जाननी चाहिए जितनी उन्हें अपनी ओर से लिखना है।

IAS बनने के बाद अंग्रेजी की आवश्यकता क्यों है

भले ही IAS बनने के लिए अंग्रेजी की आवश्यकता न हो, लेकिन आईएएस बनने के बाद अंग्रेजी की जरूरत महसूस की जा सकती है, क्योंकि ज्यादातर सरकारी काम अंग्रेजी में होते हैं और कोर्ट के आदेश, केंद्र सरकार और राज्य सरकार के पत्र भी अंग्रेजी में होते हैं। इसके अलावा दक्षिण भारत और उत्तर-पूर्व में बातचीत के लिए अंग्रेजी जरूरी है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts