Menu Close

आयरन टेबलेट के फायदे

आयरन (Iron) हमारे पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने का काम करता है। आयरन लाल रक्त कोशिकाओं को ऑक्सीजन को अवशोषित करने में मदद करता है और फिर पूरे शरीर में फैल जाता है जब ऑक्सीजन हमारे पूरे शरीर में फेफड़ों से होकर हमारे रक्त में जाती है। जब हमारे शरीर में पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है, तो हमारे शरीर की सभी कोशिकाएं पूरी तरह से ऊर्जा से भर जाती हैं। आज बाजार में आसानी से Iron Tablet मिल जाती है। इस लेख में हम आयरन टेबलेट के फायदे और नुकसान क्या है जानेंगे।

आयरन टेबलेट के फायदे

आयरन टेबलेट के फायदे

1. भूख में सुधार

आयरन टैबलेट (Iron Tablet) की मदद से भूख में सुधार किया जा सकता है। एक शोध के दौरान यह पाया गया है कि आयरन सप्लीमेंट लेने वाले बच्चों की भूख बढ़ी और उनकी वृद्धि में भी सुधार हुआ। शोध में यह भी कहा गया है कि जिस तंत्र से आयरन भूख बढ़ाता है वह स्पष्ट नहीं है, इसलिए इसे जानने के लिए भविष्य में और अधिक अध्ययन की आवश्यकता है।

2. प्रेग्नेंसी में फायदेमंद

डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपने आहार में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करने की सलाह देते हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में खून की कमी हो जाती है, जिससे उन्हें एनीमिया की शिकायत हो सकती है, इसे पूरा करने के लिए उनके स्वास्थ्य के लिए आयरन आवश्यक है।

3. ऊर्जा बनाए रखता है

हर समय थकान और कमजोरी महसूस होना, तो यह आयरन की कमी का लक्षण हो सकता है। आयरन शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने के साथ-साथ एनर्जी बनाने का भी काम करता है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि आयरन की गोलियों का सेवन करने से व्यक्ति ऊर्जावान महसूस कर सकता है।

4. बाल झड़ना बंद करें

एक शोध के अनुसार शरीर में आयरन की कमी होने पर बाल अधिक झड़ते हैं। आयरन बालों को मुलायम और मजबूत बनाता है। आयरन शरीर और मस्तिष्क दोनों को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने में मदद करता है, जिससे शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से ऊर्जा मिलती है। आयरन की कमी के कारण आपको थकान और चिड़चिड़ापन महसूस होने लगता है।

आयरन की कमी से नुकसान

आयरन मानव शरीर के लिए आवश्यक है। जिसका सेवन आयरन टेबलेट कर रूप में भी किया जा सकता है। शरीर में आयरन की अधिक मात्रा होने से हृदय रोग, दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। लीवर खराब होने, कैंसर, ऑस्टियोपोरोसिस आदि का खतरा रहता है।

अगर आप आयरन की गोलियां खाते हैं तो उसके साथ कभी भी नींबू का सेवन न करें। यह दवा के प्रभाव को बेअसर कर देगा। नींबू के साथ दूध, पपीता, रेड मीट, दही, टमाटर, डेयरी उत्पाद न खाएं। दरअसल, नींबू में साइट्रिक एसिड होता है जो इन चीजों के साथ गलत तरीके से प्रतिक्रिया करता है। इससे गैस, एसिडिटी, पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!