Menu Close

इंटरनेट बैंकिंग क्या है | Internet Banking के लाभ

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) ग्राहकों को अपने नेट बैंकिंग खाते से वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन करने की सुविधा प्रदान करती है। आप इससे कंप्युटर या मोबाईल के माध्यम से ऑनलाइन शॉपिंग, पैसे का लेनदेन आदि आसानी से कर सकते हो। इस लेख में हम इंटरनेट बैंकिंग क्या है और Internet Banking के लाभ क्या है, इसे जानेंगे।

इंटरनेट बैंकिंग क्या है और Internet Banking के लाभ

इंटरनेट बैंकिंग क्या है

इंटरनेट बैंकिंग एक ऐसी प्रणाली है जो ग्राहक को अपने नेट बैंकिंग खाते से वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन करने की अनुमति देती है। बैंक खाताधारक नेट बैंकिंग अकाउंट, आरटीजीएस, एनईएफटी आदि का उपयोग करके मनी ट्रांसफर, बैंक अकाउंट बैलेंस चेक आदि कर सकते हैं। ग्राहक द्वारा उपयोग किए जाने वाले संसाधन कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल फोन जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हो सकते हैं। इंटरनेट वह माध्यम है जो तकनीक को संभव बनाता है।

बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों को प्रदान की जाने वाली ई-बैंकिंग (E-Banking) की सुविधा इंटरनेट को एक माध्यम के रूप में उपयोग करती है। इस सुविधा के तहत सेवाओं में फंड ट्रांसफर, बिलों का भुगतान, ऑनलाइन बैंक खाते खोलना और बहुत कुछ शामिल हैं। इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) सुविधा बैंकों के माध्यम से प्रदान की जाती है और ग्राहक को उपलब्ध सुविधा का लाभ उठाने के लिए किसी भी बैंक में खाताधारक होना चाहिए।

इंटरनेट बैंकिंग के लाभ

  1. ग्राहकों को कभी भी और कहीं भी अपने बैंक में स्थायी पहुंच प्राप्त होती है।
  2. यह ग्राहक का बहुमूल्य समय बचाता है।
  3. त्वरित और सुरक्षित लेनदेन।
  4. तत्काल फंड ट्रांसफर ग्राहक को तत्काल धन की आवश्यकता के समय मदद करता है।
  5. ग्राहक खाता विवरण देख सकता है।
  6. ग्राहक एक निश्चित अवधि में संबंधित बैंक द्वारा किए गए लेनदेन का विवरण जान सकता है।
  7. बैंक स्टेटमेंट, विभिन्न प्रकार के फॉर्म, एप्लिकेशन डाउनलोड किए जा सकते हैं
  8. ग्राहक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर खरीद-बिक्री कर सकता है।
  9. ग्राहक परिवहन, यात्रा पैकेज और चिकित्सा पैकेज बुक कर सकते हैं।
  10. ग्राहक फंड ट्रांसफर कर सकता है, किसी भी तरह के बिल का भुगतान कर सकता है, मोबाइल रिचार्ज कर सकता है, डीटीएच कनेक्शन आदि।

यह भी पढे –

Related Posts

error: Content is protected !!