मेन्यू बंद करे

हीरक, रजत और स्वर्ण जयंती क्या है

आपने कई बार सरकारी – गैरसरकारी या निजी आयोजनों या कार्यक्रमों में हीरक, रजत और स्वर्ण जयंती के बारे में देखा और सुना होगा। यह शब्द निश्चित संख्या को दर्शाते है। कई लोग इन शब्दों के सटीक और सही-सही अनुमान नहीं लगा पाते और इन शब्दों का इस्तेमाल करने से बचते है। इसका कारण – सही जानकारी का अभाव। अगर आप नहीं जानते की, हीरक, रजत और स्वर्ण जयंती क्या है तो हम इस आर्टिकल में आसान शब्दों में इसे बताने जा रहे है।

हीरक, रजत और स्वर्ण जयंती क्या है

हीरक जयंती क्या है

हीरक जयंती का उपयोग 75वीं वर्षगांठ या 75वीं जयंती को चिह्नित करने के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए यदि भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ तो 15 अगस्त 2022 स्वतंत्रता की हीरक जयंती होगी। यह भी ध्यान देने योग्य है कि इस उदाहरण में, 15 अगस्त 2022 भारत का छिहत्तरवां स्वतंत्रता दिवस होगा। चूंकि जुबली घटना के एक साल बाद शुरू होती है, इसलिए यह घटनाओं की वास्तविक संख्या से एक कम चलती है। अंग्रेजी भाषा में Diamond Jubilee शब्द का प्रयोग किया जाता है। Diamond शब्द यह हीरे का बोध कराता है।

रजत जयंती क्या है

रजत जयंती का उपयोग पच्चीसवीं जयंती या पच्चीसवीं वर्षगांठ के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ, तो 15 अगस्त 1972 स्वतंत्रता की रजत जयंती होगी। यह भी ध्यान देने योग्य है कि इस उदाहरण में 15 अगस्त 1972 भारत का छब्बीसवां स्वतंत्रता दिवस होगा। चूंकि जुबली घटना के एक साल बाद शुरू होती है, इसलिए यह घटनाओं की वास्तविक संख्या से एक कम चलती है। रजत जयंती शब्द का प्रयोग अंग्रेजी भाषा में Silver Jubilee किया जाता है।

स्वर्ण जयंती क्या है

स्वर्ण जयंती का उपयोग पचासवीं जयंती या पचासवीं वर्षगांठ के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ, तो 15 अगस्त 1997 स्वतंत्रता की स्वर्ण जयंती होगी। यह भी ध्यान देने योग्य है कि इस उदाहरण में 15 अगस्त 1997 भारत का इक्यावनवां स्वतंत्रता दिवस होगा। चूंकि जयंती घटना के एक साल बाद शुरू होती है, इसीलिए वास्तविक संख्या से एक कम चलती है। अंग्रेजी भाषा में इसके लिए Golden Silver Jubilee शब्द का प्रयोग किया जाता है।

यह भी पढे –

Related Posts