Menu Close

हिंदी की पहली कहानी के लेखक कौन है

हिन्दी की पहली कहानी क्या है, इस विषय पर विद्वानों में जो मतभेद शुरू हो गया था, वह आज भी वैसा ही है। फिर भी पहली हिंदी कहानी के लेखक के विषय में ज्यादा विवाद नहीं है। इस लेख में हम हिंदी की पहली कहानी के लेखक कौन है जानेंगे।

हिंदी की पहली कहानी के लेखक कौन है

हिंदी की पहली कहानी के लेखक कौन है

हिंदी की पहली कहानी ‘इन्दुमती’ के लेखक किशोरी लाल गोस्वामी है। किशोरी लाल गोस्वामी का जन्म वर्ष 1865 में वृंदावन के एक प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था। उनका परिवार निम्बार्क संप्रदाय का अनुयायी था। किशोरी लाल गोस्वामी के दादा वृंदावन के सर्वश्रेष्ठ विद्वान और शिक्षक थे।

किशोरी लाल गोस्वामी के नाना वाराणसी के संस्कृत विद्वान थे। इनसे भारतेंदु जी ने श्लोक सीखे थे। किशोरी लाल जी का पालन-पोषण और शिक्षा उनके नाना के घर वाराणसी में हुई। इसी कारण किशोरी लाल गोस्वामी भारतेंदु जी के संपर्क में आए। 1898 में किशोरी लाल गोस्वामी जी ने ‘नोव्यास’ पत्रिका निकाली जिसमें उनके उपन्यास प्रकाशित हुए।

किशोरी लाल गोस्वामी सरस्वती के पंचायती संपादकीय बोर्ड के सदस्य थे। लगभग 65 उपन्यासों के अलावा, उन्होंने विभिन्न विषयों पर कई कविताएँ और अपनी उत्कृष्ट रचनाएँ लिखीं। इंदुमती और गुलबहार कहानियों के रचयिता गोस्वामी को प्रथम कथाकार होने का श्रेय प्राप्त है। किशोरी लाल गोस्वामी जी ने अपनी सांसारिक यात्रा पूरी की और 67 वर्ष (1932) की आयु में स्वर्ग पहुँच गए।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!