Menu Close

गुप्त संचय क्या है

संचय (Reserve) वह राशि है जिसे लाभ में से बचा कर एक ओर रख दिया जाता है। यह लाभ अथवा संचित का विनियोजन होता है जो व्यवसाय की वित्तीय स्थिति को सुदृढ़ करने के लिए होता है। यह लाभों के विरूद्ध कोई अधिभार नहीं है। यह किसी देनदारी अथवा सम्पत्ति पर ह्रास को पूरा करने के लिए नहीं होता। संचय के की प्रकार है जिनमें से हम गुप्त संचय क्या है या ‘Secret Reserve किसे कहते हैं जानेंगे।

गुप्त संचय क्या है या 'Secret Reserve' किसे कहते हैं

गुप्त संचय क्या है

कभी-कभी फर्म ऐसे संचयन करती है जो बैलेंस शीट में नहीं दिखाए जाते हैं। इसे गुप्त संचय (Secret Reserve) या छिपा संचय (Hidden reserve) या इंटरनल रिजर्व कहा जाता है। यह संचय वित्तीय विवरणों में नहीं दिखाया गया है। यह व्यवसाय की वित्तीय स्थिति को मजबूत करता है, आत्मविश्वास और स्थिरता को बढ़ाता है। यह बैंकों, बीमा और वित्तीय कंपनियों को छोड़कर अन्य संयुक्त पूंजी कंपनियों द्वारा नहीं बनाया गया है।

सीक्रेट रिजर्व, जैसा कि नाम से पता चलता है, एक प्रकार का रिजर्व है जिसका अस्तित्व संगठन की बैलेंस शीट में प्रकट नहीं होता है। इसे हिडन रिजर्व या आंतरिक रिजर्व के रूप में भी जाना जाता है। संगठन के तुलन-पत्र में जान-बूझकर वास्तविक शुद्ध लाभ को छिपाकर या वास्तविक से कम शुद्ध लाभ दिखाकर एक गुप्त आरक्षित निधि बनाई जाती है।

गुप्त भंडार बीमा कंपनियों, बैंकों और अन्य प्रकार के वित्तीय संस्थानों जैसे संगठनों द्वारा बनाए रखा जाता है। कंपनी अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार, कोई भी संयुक्त स्टॉक कंपनी गुप्त भंडार बनाने में असमर्थ है, लेकिन बैंकों और बीमा कंपनियों जैसे वित्तीय संस्थानों के लिए छूट लागू है।

संचय के प्रकार

कभी – कभी व्यवसाय को, भविष्य की ज्ञात अथवा अज्ञात आकस्मिकताओं/आपात स्थितियों की सम्भाव्यता का अनुमान लगाना होता है। इसके भुगतान के लिए, वह लाभों एवं अन्य आधिक्यों के एक भाग को बचाकर रख लेता है, जिसे संचय कहते हैं।

संचय लाभ का विनियोजन होता है न कि लाभ पर अधिभार क्योंकि यह किसी ज्ञात देयता के भुगतान करने अथवा सम्पत्ति के मूल्य में आए ह्रास को पूरा करने के लिए नहीं होता है। यह लाभ का वह भाग है जिसे एक ओर बचाकर रख लिया जाता है, जिससे अप्रत्याशित देनदारी अथवा भविष्य की आपातकालीन स्थिति से निपटा जा सके।

इसका सृजन लाभ – हानि विनियोजन खाते के नाम में प्रविष्टि करके किया जाता है इसका सृजन उसी स्थिति में हो सकता है जबकि व्यवसाय को लाभ हो रहा हो। इसे सामान्यतः स्थिति विवरण के देयता पक्ष में दर्शाया जाता है। संचय निम्नलिखित वर्गों में बांटे जा सकते हैं:

  1. सामान्य संचय (General Reserve)
  2. पूंजीगत संचय (Capital Reserve)
  3. गुप्त संचय (Secret Reserve)
  4. विशिष्ट संचय लेखांक (Special Reserve Account)
  5. संचित कोष (Consolidated Fund)
  6. आयगत संचय (Revenue accumulation)
  7. ऋण शोधन संचय (Indebtedness accumulation)

यह भी पढे –

Related Posts

error: Content is protected !!