Menu Close

ग्रीनहाउस गैस क्या है

इस लेख में हम, ग्रीनहाउस गैस क्या है यह जानेंगे। जलवायु परिवर्तन पर इस श्रृंखला के पिछले भाग में हमने यह जानने की कोशिश की थी कि जलवायु परिवर्तन क्या है और यह मनुष्यों को कैसे प्रभावित कर रहा है। इस भाग में हम जलवायु परिवर्तन के बारे में कुछ और तथ्य जानने का प्रयास करेंगे।

ग्रीनहाउस गैस क्या है

ग्रीनहाउस गैस क्या है

ग्रीनहाउस गैस ग्रह के वातावरण या जलवायु में परिवर्तन और अंततः ग्लोबल वार्मिंग के लिए जिम्मेदार है। इनमें से अधिकांश उत्सर्जन कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रस ऑक्साइड, मीथेन, क्लोरो-फ्लोरो कार्बन, वाष्प, ओजोन आदि का उत्सर्जन करता है। कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन पिछले 10-15 वर्षों में 40 गुना बढ़ गया है।

पशुपालन से मीथेन निकलती है। कोयला बिजलीघर भी ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन का एक प्रमुख स्रोत हैं। हालांकि भारत में क्लोरोफ्लोरो का उपयोग बंद कर दिया गया है, लेकिन इसके स्थान पर इस्तेमाल होने वाली गैस हाइड्रो क्लोरो-फ्लोर कार्बन सबसे हानिकारक ग्रीनहाउस गैस है जो कार्बन डाइऑक्साइड की तुलना में एक हजार गुना अधिक हानिकारक है।

जैसे-जैसे वातावरण में इन ग्रीनहाउस गैसों की मात्रा बढ़ती जा रही है या यूं कहें कि इन गैसों का आवरण मोटा होता जा रहा है, ये आवश्यकता से अधिक ऊष्मा धारण कर रही हैं। जिससे धरती पर गर्मी और तापमान बढ़ रहा है।

दूसरे शब्दों में, औद्योगीकरण के बाद से ग्रीनहाउस गैस में 100 गुना वृद्धि हुई है। ये गैसें आम उपयोग के उपकरणों, एयर कंडीशनर, फ्रिज, कंप्यूटर, स्कूटर, कार आदि से उत्सर्जित होती हैं। पेट्रोलियम ईंधन और पारंपरिक स्टोव कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन के सबसे बड़े स्रोत हैं।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!