Menu Close

गोमेद रत्न के फायदे और नुकसान

ज्योतिष में रत्नों का बहुत महत्व है। इन्हीं में से एक रत्न है गोमेद (Onyx Gemstone), जिसे धारण करने से ग्रह दोष दूर होते हैं। कहा जाता है कि रत्न धारण करने से हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वृष, मिथुन, कन्या और तुला और कुंभ राशि के लोगों के लिए Gomed Ratna पहनना शुभ माना जाता है। स्वाति, अर्दा और शतभिषा नक्षत्रों में शनिवार के दिन गोमेद धारण करना शुभ माना जाता है और शुभ फल देता है। इस लेख में हम गोमेद रत्न के फायदे और नुकसान (Gomed stone benefits and side effects) क्या है जानेंगे।

गोमेद रत्न के फायदे और नुकसान

गोमेद रत्न के फायदे

1. गोमेद रत्न (Gomed Ratna) को धारण करने से व्यक्ति पर राहु और शनि की महादशा का प्रभाव कम होगा, इससे आपके जीवन में समस्याओं का निर्माण कम होगा और आपको सफलता जल्द मिलेगी।

2. Gomed Stone धारण करने से आपके मन में सकारात्मक विचार आएंगे और आपका जीवन सुखमय हो जाएगा।

3. इसे पहनने से आपका मन हमेशा शांत रहेगा और आपको एकाग्रता में विशेष लाभ मिलेगा।

4. गोमेद धारण करने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है और मन में सकारात्मक विचार उत्पन्न होते हैं।

5. कहा जाता है गोमेद धारण करने से एकाग्रता बढ़ती है और अनिद्रा की समस्या से निजात मिलती है।

6. गोमेद रत्न धारण करने से आपके आत्मविश्वास में वृद्धि हो सकती है और गोमेद रत्न धारण करने से आपको अपने रुके हुए कार्यों में सफलता मिलेगी।

7. आप जिस क्षेत्र में हाथ रखेंगे उस क्षेत्र में आपको लाभ मिलेगा।

8. यदि पेशेवर लोग गोमेद पहनते हैं, तो उनके सभी अटके हुए प्रोजेक्ट पूरे होते हैं।

9. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल पर शनि और राहु-केतु की दृष्टि रक्त कैंसर जैसी घातक बीमारी का कारण बनती है। अगर किसी को ब्लड कैंसर है तो उसे लहसुन या गोमेद धारण करना चाहिए।

गोमेद रत्न के नुकसान

1. Gomed Stone में यदि किसी प्रकार की चमक न हो तो शरीर को लकवा भी हो सकता है।

2. यदि गोमेद में किसी प्रकार का धब्बा हो तो इसे धारण करने से आकस्मिक मृत्यु का भय बना रहता है।

3. गोमेद रत्न में यदि लाल धब्बे दिखाई दें तो इससे आर्थिक नुकसान होता है और पेट की समस्या होती है।

4. गोमेद में यदि किसी प्रकार का गड्ढा दिखाई दे तो यह पुत्र और व्यापार को हानि पहुँचाता है।

5. यदि Gomed Ratna में कोई चीरा या क्रॉस हो तो यह शरीर में रक्त संबंधी विकारों का कारण बनता है।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!