Menu Close

गोबर गैस प्लांट शुरू करके कैसे पैसे कमायें – Gobar Gas Plant Business in Hindi

Gobar Gas Plant Business in Hindi: प्राचीन काल में जब गैस नहीं होती थी तो खाना पकाने के लिए लकड़ी का उपयोग किया जाता था और चूल्हे में लकड़ी का उपयोग करके भोजन पकाया जाता था। आधुनिक समय में गैस सिलेंडर का इस्तेमाल हो रहा है, लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे देश में गरीब, मध्यम वर्ग और सभी वर्ग के अमीर लोग रहते हैं, इसलिए हर वर्ग के लोग गैस नहीं खरीद सकते। अगर आप नहीं जानते हैं कि गोबर गैस प्लांट क्या है और इसे शुरू करके कैसे पैसे कमायें तो हम इसकी सारी जानकारी देने जा रहे हैं।

गोबर गैस प्लांट शुरू करके कैसे पैसे कमायें - Gobar Gas Plant Business in Hindi

सरकार द्वारा समय-समय पर गैस की कीमतों में वृद्धि और कमी की जाती है। ऐसे में अगर आप गोबर गैस प्लांट लगाते हैं तो इससे खाने के लिए गैस की जरूरत काफी कम हो जाएगी क्योंकि आप गोबर गैस प्लांट के जरिए खाना बना सकते हैं और दूसरे काम भी कर सकते हैं।

गोबर गैस प्लांट कैसे शुरू करें (How to Start Gobar Gas Plant Business)

गोबर गैस प्लांट अक्सर उन जगहों पर लगाए जाते हैं जहां गाय और भैंस अधिक मात्रा में होते हैं, क्योंकि इन पौधों में केवल गाय और भैंस के गोबर का ही अधिक मात्रा में उपयोग किया जाता है। और इससे निकलने वाली गैस का उपयोग खाना पकाने और अन्य कामों में किया जाता है। अगर आप गोबर गैस प्लांट शुरू करना चाहते हैं, तो आपको गोबर गैस प्लांट कैसे शुरू करें, इसकी पूरी प्रक्रिया की जानकारी प्राप्त करनी चाहिए, ताकि आप आसानी से गोबर गैस प्लांट शुरू कर सकें। इस लेख में आप जानेंगे कि गोबर गैस प्लांट शुरू करने के लिए क्या करें और गोबर गैस प्लांट कैसे शुरू करें।

गोबर गैस प्लांट क्या है (Gobar Gas Plant)

गाय और भैंस के गोबर से जो पौधा स्थापित किया जाता है उसे गोबर गैस प्लांट कहा जाता है और इस पौधे के माध्यम से गाय के गोबर की गैस उत्पन्न होती है, जिसका उपयोग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किया जाता है। गाय के गोबर की गैस को आप अपने लिए इस्तेमाल कर सकते हैं और इसे बिजनेस के तौर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। गोबर गैस प्लांट में गोबर गैस निर्माण मशीन, गैस कंप्रेसर, गैस शोधक, टैंक पाइप और मोटर उपलब्ध हैं। गोबर गैस प्लांट में गाय-भैंस के गोबर के अलावा अन्य सड़ी-गली चीजें भी डाली जाती हैं।

गोबर गैस प्लांट के लिए स्थान

गोबर गैस प्लांट को शुरू करने के लिए मुख्य रूप से गाय और भैंस के गोबर के साथ-साथ अन्य सड़ी-गली चीजों की जरूरत होती है, लेकिन इसमें मुख्य रूप से गोबर की जरूरत होती है। इसलिए आपको गोबर गैस प्लांट ऐसी जगह पर शुरू करना चाहिए जहां गाय और भैंस का गोबर हो या फिर ऐसी जगह पर शुरू करना चाहिए जहां गाय और भैंस का गोबर फेंका जाता है, ताकि आपको गोबर गैस प्लांट में डालना पड़े। . गाय का गोबर लाने के लिए अतिरिक्त पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है।

गोबर गैस प्लांट लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन (License and Registration)

अगर आप गोबर गैस प्लांट शुरू करना चाहते हैं तो आपको कुछ जरूरी लाइसेंस भी लेने होंगे। यदि आप इसे बिना लाइसेंस के चालू करते हैं, तो आप पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

  1. गोबर गैस प्लांट शुरू करने के लिए व्यक्ति को उद्योग का पंजीकरण कराना होगा।
  2. गोबर गैस प्लांट शुरू करने के लिए व्यक्ति को प्रदूषण प्रमाण पत्र भी प्राप्त करना होगा।
  3. इसके अलावा उसके पास जमीन से जुड़े दस्तावेज और व्यावसायिक बिजली के दस्तावेज भी होने चाहिए।

इसके अलावा गोबर गैस प्लांट शुरू करने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेज देने पड़ सकते हैं, जिनकी जानकारी आप उद्योग विभाग से प्राप्त कर सकते हैं।

गोबर गैस प्लांट से बिजली कैसे उत्पन्न होती है

  1. सबसे पहले सड़क पुल से गोबर का वजन किया जाता है और उसके वजन की जांच की जाती है। इसके बाद उतनी ही मात्रा में गोबर का प्रयोग उत्पादन के हिसाब से किया जाता है।
  2. इसके बाद इस गोबर को गोबर गैस प्लांट की टंकी में पानी और घोल में मिलाकर डाला जाता है।
  3. गोबर गैस प्लांट में बने गड्ढे में पहले से ही आंदोलक और मोटर है। यहां मोटर की मदद से घोल को आपदा में भेजा जाता है।
  4. आपदा में कुल 4 सबमर्सिबल आंदोलनकारी लगे हुए हैं, जिनका उपयोग अधिकतम गोबर गैस उत्पादन और इस अधिकतम मीथेन उत्पादन के लिए किया जाता है।
  5. आपदा में जो छत होती है, उससे कच्चा माल शुद्धिकरण प्रणाली में जाता है।
  6. यह शुद्धिकरण प्रणाली CO2 को अवशोषित करती है और CH4 को शुद्ध और अलग करती है, जिसके बाद कार्बन डाइऑक्साइड को मीथेन से अलग किया जा सकता है और एक कंप्रेसर की मदद से सिलेंडर में पंप किया जा सकता है।
  7. जो मीथेन फैसा तैयार किया जाता है उसे जनरेटर से पाइप के जरिए कंप्रेसर से जोड़ा जाता है, ताकि गोबर गैस के जरिए पूरे प्लांट में बिजली का इस्तेमाल किया जा सके.

तो आप समझ गए होंगे की गोबर गैस प्लांट क्या है और इसे शुरू करके कैसे पैसे कमायें, गोबर गैस पर सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी सब्सिडी कहलाती है। गोबर गैस प्लांट में इस प्लांट को चलाने वाले को 60 फीसदी तक की सब्सिडी सरकार की ओर से दी जाती है और बाकी 40 फीसदी की सब्सिडी खुद ही वहन करनी होती है। आशा है की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी।

यह भी पढ़े –

Related Posts