Menu Close

गे और लेस्बियन क्या होता है – Gay and Lesbian Kya Hota Hai in Hindi

Gay and Lesbian Kya Hota Hai in Hindi: वैज्ञानिकों ने यह साबित कर दिया है कि समलैंगिकता कोई बीमारी नहीं है। समलैंगिकता के कारण अभी स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन आनुवंशिकी और मां के गर्भ में हार्मोन का प्रभाव और क्लिष्ट वातावरण कारक माना जाता है। वैज्ञानिकों ने यह भी साबित कर दिया है कि समलैंगिकता सिर्फ इंसानों में ही नहीं बल्कि कई जानवरों में भी पाई जाती है। अगर आप नहीं जानते की, गे और लेस्बियन क्या होता है तो हम इस आर्टिकल में सभी सवालों का जवाब देने जा रहे है।

गे और लेस्बियन क्या होता है - Gay and Lesbian Kya Hota Hai in Hindi

कई वैज्ञानिक और डॉक्टर इस बात से सहमत हैं कि समलैंगिक व्यवहार को बदला नहीं जा सकता। लेकिन अभी भी कुछ समुदाय ऐसे हैं जो समलैंगिकता के उपचार के प्रयासों में लगे हुए हैं। इसे ‘रूपांतरण चिकित्सा’ ((Conversion Therapy)) कहा जाता है। इस प्रकार की थेरेपी में कई समलैंगिकों ने खुद को विषमलैंगिक बनाने की कोशिश की है और उनका दावा है कि वे बदल गए हैं, लेकिन इन बातों पर विश्वास नहीं किया जाता है। मनोचिकित्सक समूहों द्वारा इन उपचारों की निंदा की जाती है। वे इन उपायों की तुलना मानव अधिकारों की निंदा से करते हैं।

गे क्या होता है

समलैंगिक पुरुषों को गे (Gay) कहा जाता है। इसका अर्थ है एक ऐसा पुरुष जो अन्य पुरुषों के प्रति यौन रूप से आकर्षित होता है न कि महिलाओं के प्रति। सीधे शब्दों में कहें तो अगर कोई पुरुष महिलाओं के बजाय दूसरे पुरुषों की ओर आकर्षित होता है, तो वह समलैंगिक है। कुल मिलाकर गे, लेस्बियन, उभयलिंगी (Bisexual) और ट्रांसजेंडर लोग LGBT समुदाय को बनाते हैं। दरअसल, यह समुदाय 1990 से चल रहा है और जो लोग विषमलैंगिक नहीं हैं वे इस समुदाय में आते हैं।

लेस्बियन क्या होता है

समलैंगिक महिला को लेस्बियन कहा जाता है। इसका अर्थ है एक ऐसी महिला जो अन्य महिलाओं के प्रति यौन रूप से आकर्षित होती है न कि पुरुषों के प्रति। लेस्बियन शब्द ग्रीस के एक द्वीप लेस्बोस (Λέσβος) से आया है। एक प्राचीन कवि, सप्पो, लेस्बोस में रहता था। सप्पो ने ज्यादातर प्रेम के बारे में कविताएँ लिखीं। उनकी कई प्रेम कविताएँ महिलाओं के लिए लिखी गई हैं।

समलैंगिकता से तात्पर्य एक ही लिंग के लोगों के प्रति यौन रूप से आकर्षित होने वाले व्यक्ति से है। जो पुरुष अन्य पुरुषों के प्रति आकर्षित होते हैं उन्हें समलैंगिक पुरुष या गे कहा जा सकता है, और जो महिलाएं अन्य महिलाओं के प्रति आकर्षित होती हैं उन्हें समलैंगिक महिला या लेस्बियन कहा जाता है। जो लोग स्त्री और पुरुष दोनों की ओर आकर्षित होते हैं उन्हें उभयलिंगी (Bisexual) कहा जाता है।

भारत में गे और लेस्बियन की कानूनी मान्यता

भारत में कुछ समय पहले समलैंगिकता पर प्रतिबंध लगा दिया गया था यानी समलैंगिक होना भारत में अपराध के बराबर था। भारतीय दंड संहिता की धारा 377 के तहत समान लिंग के लोगों के साथ यौन संबंध बनाना असंवैधानिक था। 2 जुलाई 2009 को, दिल्ली उच्च न्यायालय ने सहमति व्यक्त की कि समलैंगिक वयस्कों के बीच सेक्स एक असंवैधानिक प्रावधान था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने 11 दिसंबर 2013 को इस फैसले को पलट दिया।

यह भी पढ़े –

Related Posts