Menu Close

लहसुन खाने के फायदे और औषधीय गुण | Garlic Benefits

लहसुन खाने के फायदे और औषधीय गुण (Garlic Benefits): लहसुन हमारे खाने मे इस्तेमाल किया जाने वाला मसाला -पदार्थ है। लहसुन का वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल है। लहसुन को पुरातन कल से ही खाने तथा पाक कलाओमे इस्तेमाल किया जाता था। इसकी खास महक होती है जिसकी तीव्र गंध आती है। इसका स्वाद तीखा तथा खाने मे यह मृदुल होता है। इस लहसुन मे कई लहसुन की गाठे होती है जिसे विभाजित करके उसके ऊपर का पतला परत (छिलका) निकालकर उसे खाने मे डाला जाता है। लहसुन के साथ इसके वृक्ष का भी इस्तेमाल आयुर्वेदीक जड़ीबूटी बनाने मे किया जाता है। इसका इस्तेमाल गले तथा पेट सम्बन्धी बीमारियों में होता है। इसमें पाये जाने वाले सल्फर के यौगिक ही इसके तीखे स्वाद और गंध के लिए उत्तरदायी होते हैं। जैसे ऐलिसिन, ऐजोइन इत्यादि। लहसुन सर्वाधिक चीन में उत्पादित होता है उसके बाद भारत में।

लहसुन खाने के फायदे और औषधीय गुण

लहसुन खाने के फायदे और औषधीय गुण (Garlic Benefits)

लहसुन में रासायनिक तौर पर गंधक अधिक मात्रा मे पाई जाती है। इसे कूटने या ,पीसने पर ऐलिसिन नामक यौगिक प्राप्त होता है जो प्रतिजैविक विशेषताओं से भरा होता है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन, एन्ज़ाइम तथा विटामिन बी, सैपोनिन, फ्लैवोनॉइड आदि पदार्थ पाये जाते 

  • लहसुन को दिल के स्वास्थ के लिए अच्छा आहार माना जाता है इसलिए रोजाना एक या दो लहसुन की गाँठे खाने से हृदय सुदृढ़ रहता है।
  • लहसुन मे गामा ग्लुटामिलस्टीन एक प्राकृतिक एसीई अवरोधक होता है जो धमनियों को चौड़ा करता है, इसीलिए लहसुन हाई बीपी नियंत्रण के लिए भी कारगर साबित होता है।
  • लहसुन के तेल को छाती और पेट पर रगड़ने से भी दर्द कम होता है।
  • लहसुन एक शुक्राणु विकर्षक के रूप में कार्य करता है। लहसुन का उपयोग उत्तेजना बढ़ाने के लिए किया जाता है।
  • महिलाओं में, लहसुन का उपयोग किया जाता है यदि मासिक धर्म के दौरान शरीर को साफ नहीं किया जाता है।
  • अस्थि-भंग में हड्डी का दूध बहुत उपयोगी है।
  • लहसुन जिल्द की सूजन में उपयोगी है, जिसमें त्वचा सड़ी हुई है। घाव पर लहसुन और मायर लगाने से घाव में कीड़े मर जाते हैं।
  • लहसुन, हल्दी और गुड़ को मिलाकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इसका मतलब है कि सूजन जल्दी से कम हो जाती है और दर्द कम हो जाता है।

चुकंदर के फायदे जानिए

चुकंदर (Beetroot) में अच्छी मात्रा में लौह, विटामिन और खनिज होते हैं जो रक्तवर्धन और शोधन के काम में सहायक होते हैं। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं। यह प्राकृतिक शर्करा का स्रोत होता है। इसमें सोडियम, पोटेशियम, आयोडीन, फॉस्फोरस, क्लोरीनऔर अन्य महत्वपूर्ण विटामिन पाए जाते हैं। आगे पढ़े..

प्याज काटते समय रोना क्यू आता है

काफी लोगों को खाना बनाने का बड़ा शौक होता है. लेकिन जब प्याज काटने की बारी आती है तब उसे प्याज रुला देता है. आंखों से आंसू निकलते ही उन्हे थोड़ी परेशानी महसूस होती है. लेकिन अगर खाना लज्जतदार और स्वादिष्ट चाहिए तो प्याज का होना जरूरी होता है, इसलिए उसे काटना मजबूरी भी बन जाता है. आगे पढ़े.. .

इसे भी पढे:

Related Posts