मेन्यू बंद करे

FASTag क्या है? जानिए फास्टैग कैसे बनाएं

FASTag को भारत सरकार ने देश के सभी टोल नाकों पर अनिवार्य कर दिया है। FASTag एक स्वचालित भुगतान प्रणाली का एक हिस्सा है, जिससे वाहनों के भुगतान में आसानी होगी। मोबाइल रिचार्ज की तरह इसके लिए भी वाहन मालिकों को भुगतान करना होगा। इससे वाहन चालक को फायदा होगा, जिससे उसे टोल नाकों पर बेवजह रुकना नहीं पड़ेगा।

FASTag क्या है? जानिए फास्टटैग कैसे बनाएं

अगर आपके वाहन पर FASTag नहीं है तो आपको मौजूदा टोल पर दोगुना जुर्माना देना पड़ सकता है। अगर आप इस समस्या से बचना चाहते हैं तो कुछ आसान स्टेप्स से इस FASTag को ऑर्डर करें। हमने आपके लिए FASTag बनवाने का आसान तरीका नीचे दिया है।

FASTag क्या है?

FASTag में Radio Frequency Identification (RFID) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को विंडस्क्रीन पर लगाने के बाद जब आप वाहन लेकर टोल प्लाजा पर आते हैं तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे FASTag को ट्रैक कर लेता है और वह राशि आपके खाते से कट जाती है। इसी तरह आपके खाते से पैसे की निकासी होती रहती है। जिसे आपको रिचार्ज करना है। FASTag क्या है और इसे कैसे बनाते हैं इसकी प्रक्रिया हमने नीचे दी है।

UPI ऐप से कैसे बना सकते हैं FASTag?

  1. FASTag करवाने के लिए सबसे पहले आपको PayTM, PhonePe, Google Pay जैसे ऐप में जाना होगा।
  2. आपको ऊपर ही FASTag का ऑप्शन मिल जाएगा, अगर नहीं मिला तो सर्च बार में सर्च करें।
  3. इसके बाद FASTag पर क्लिक करें और वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर डालें।
  4. उसके बाद नीचे उपलब्ध दो विकल्पों में से चयन कर वाहन की आरसी के आगे व पीछे की फोटो अपलोड करें।
  5. उसके बाद अपने डिलीवरी पते की पुष्टि करें और भुगतान करें।
  6. इस पूरी प्रक्रिया के बाद आपके पते पर FASTag भेज दिया जाएगा।

इसे भी पढे:

Related Posts