Menu Close

एथेनॉल प्लांट क्या है | एथेनॉल का उपयोग

इथेनॉल (Ethanol) यह भविष्य का एक बहुत ही महत्वपूर्ण तत्व है जो हमारे वाहनों, प्रदूषण और इसके उपयोग के लाभों से जुड़ा है। यही कारण है कि इन दिनों सरकार और ऑटो-मोबाइल क्षेत्र के साथ-साथ पूरी दुनिया में यह खास चर्चा का विषय है। इथेनॉल वास्तव में एक प्रकार का अल्कोहल है, जिसे पेट्रोल के साथ मिलाकर वाहनों में ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस लेख में एथेनॉल प्लांट क्या है और एथेनॉल का उपयोग क्या है जानेंगे।

एथेनॉल प्लांट क्या है

एथेनॉल प्लांट क्या है

एथेनॉल प्लांट (Ethanol Plant) एक ऐसा प्लांट है जिसमें एथेनॉल का उत्पादन किया जाता है। पेट्रोल की ज्वलनशीलता बढ़ाने के लिए इथेनॉल मिलाया जाता है। हरियाणा में पेट्रोल में 5 प्रतिशत एथेनॉल बनाने की अनुमति है, जबकि उत्तर प्रदेश में 10 प्रतिशत। एथेनॉल मिलाने पर पेट्रोल का ऑक्टेन मान 2.5 प्रतिशत और ऑक्सीजन क्षमता 3 प्रतिशत बढ़ जाती है। इससे पेट्रोल इंजन 100% जलता है और निकलने वाला धुंआ भी कम प्रदूषणकारी होता है।

इथेनॉल एक प्रकार का अल्कोहल है। इसे पेट्रोल में मिलाकर वाहनों के लिए ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। गन्ने के रस से इथेनॉल का उत्पादन होता है। हालांकि, इथेनॉल अन्य चीनी फसलों से भी बनाया जाता है। इससे कृषि और पर्यावरण दोनों को लाभ होता है। ब्राजील के लगभग 40 प्रतिशत वाहन एथेनॉल पर चलते हैं। बाकी वाहनों में 24 प्रतिशत एथेनॉल मिलाकर ईंधन का उपयोग किया जाता है।

इथेनॉल मकई, गन्ना और अन्य पौधों की सामग्री से बना एक अक्षय ईंधन है। इथेनॉल का उपयोग व्यापक है, और यू.एस. में 98% से अधिक गैसोलीन में कुछ इथेनॉल होता है। इथेनॉल का सबसे आम मिश्रण E10 (10% इथेनॉल, 90% गैसोलीन) है।

इथेनॉल ई85 या फ्लेक्स ईंधन के रूप में भी उपलब्ध है, एक उच्च स्तरीय इथेनॉल मिश्रण जिसमें 51% से 83% इथेनॉल होता है, जो लचीले ईंधन वाहनों में उपयोग के लिए भूगोल और मौसम पर निर्भर करता है।

एथेनॉल का उपयोग (Use of Ethanol)

उद्योग में इथेनॉल की उपयोगिता इसकी उत्कृष्ट विलायक शक्ति के कारण है। इसका उपयोग वार्निश, पॉलिश, दवा के घोल और अर्क, ईथर, क्लोरोफॉर्म, कृत्रिम रंग, पारदर्शी साबुन, इत्र और फलों की सुगंध और अन्य रासायनिक यौगिकों के अर्क बनाने में किया जाता है।

इथेनॉल का उपयोग पीने के लिए विभिन्न शराब के रूप में, घावों को धोने में एक जीवाणुनाशक के रूप में और प्रयोगशाला में विलायक के रूप में किया जाता है। इसे पीने के लिए दवाओं में डाला जाता है और मृत जीवों को संरक्षित करने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

स्पिरिट लैंप और स्टोव में और मोटर इंजन में ईंधन के रूप में पेट्रोल के साथ इथेनॉल जलाते हैं। इसके ज्वलनशील होने के कारण इसमें 25% ईथर या पेट्रोल मिलाया जाता है ताकि मोटर चलाने में परेशानी न हो।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!