Menu Close

ई केवाईसी क्या है

जैसा की आप जानते है, आधार कार्ड एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज में से एक है। आधार भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) द्वारा जारी किया जाता है जिसमें बायोमेट्रिक और जनसांख्यिकीय जानकारी का एक सेट होता है। आधार की अहमियत का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि बच्चे के स्कूल में दाखिले से लेकर तमाम सरकारी योजनाओं में इसकी मांग होती है। अगर आप नहीं जानते की, ई केवाईसी क्या है तो हम आर्टिकल में इसके बारे में बताने जा रहे है।

ई केवाईसी क्या है

आधार कार्ड के इस महत्व को ध्यान में रखते हुए, एक कार्डधारक को इसमें अद्यतन जानकारी दर्ज करानी चाहिए। यूआईडीएआई आधार कार्ड धारकों को घर बैठे ई-केवाईसी सुविधा प्रदान करता है। e – KYC का फुलफॉर्म ‘Electronic – Know Your Costomer‘ यानी अपने ग्राहकों को इलेक्ट्रॉनिक रूप से जानने की प्रक्रिया है।

ई केवाईसी क्या है

यूआईडीएआई के मुताबिक, इसके जरिए कार्डधारक के आईडी प्रूफ, पते और अन्य डिटेल्स के प्रूफ को इलेक्ट्रॉनिक रूप से ऑथेंटिकेट किया जाता है। इलेक्ट्रॉनिक पता या ई-केवाईसी बैंकों जैसे संगठनों द्वारा उपयोग किए जाने वाले निवासी प्रमाणीकरण की विधि है। यूआईडीएआई इसे एक पते के रूप में इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रस्तुत करने की अनुमति देता है, जो आधार कार्ड की ज़ेरॉक्स कॉपी के समान मान्य है।

ई-केवाईसी के जरिए कागजी कार्रवाई पूरी तरह खत्म हो गई है। इससे पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहती है। ग्राहकों को अपने दस्तावेजों की फोटोकॉपी साझा करने की आवश्यकता नहीं है। इससे चोरी और धोखाधड़ी की संभावनाएं खत्म हो जाती हैं। जबकि फिजिकल केवाईसी में 5-7 दिन लगते हैं, वहीं ई-केवाईसी में कुछ ही मिनट लगते हैं।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!