Menu Close

दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन कब और किसने बनाया था? जानिये इंजीनियर और कंपनी का नाम

हम सभी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं। अब यह स्मार्टफोन 4जी से लैस हो गया है और 5जी आने वाला है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन कब और किसने बनाया था, इंजीनियर और कंपनी का नाम क्या है? भारत में मोबाइल फोन कब आया? दुनिया के पहले मोबाइल फोन का बैटरी बैकअप क्या था? तो इसीलिए दुनिया के पहले मोबाइल की पूरी जानकारी इस लेख में हम लेकर आए है। पढ़िए इन सभी सवालों के जवाब।

दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन कब और किसने बनाया था

दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन कब और किसने बनाया था

मोबाइल फोन का आविष्कार अमेरिकी इंजीनियर मार्टिन कूपर ने बनाया था। मोबाइल फोन का जन्मदिन 3 अप्रैल 1973 को दर्ज किया गया था। यह वह तारीख है जब पहली बार मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया गया था। यानी दुनिया का पहला मोबाइल फोन लॉन्च किया गया। आप तो जानते ही हैं कि दुनिया का पहला मोबाइल फोन Motorola कंपनी ने लॉन्च किया था। इंजीनियर मार्टिन कूपर ने 1970 में मोटोरोला कंपनी ज्वाइन की। ज्वाइन करने के साथ ही उन्होंने वायरलेस का काम करना शुरू कर दिया और 1973 में यानी महज 3 साल में उन्होंने वो कर दिखाया जो किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था।

दुनिया का सबसे पहला मोबाइल की पूरी जानकारी

मार्टिन कूपर द्वारा बनाए गए पहले मोबाइल फोन का वजन लगभग 2 किलो था। कंधे पर बड़ी बैटरी ढोनी पड़ती थी। एक बार चार्ज करने पर उस मोबाइल से 30 मिनट तक बात की जा सकती थी, लेकिन इसे दोबारा चार्ज होने में 10 घंटे का समय लगता था। 1973 में मोबाइल फोन की कीमत लगभग 2700 अमेरिकी डॉलर (करीब 2 लाख रुपये) थी।

मोबाइल फोन का आविष्कार कब हुआ किसने किया, इंजीनियर और कंपनी का नाम

बाजार में दुनिया के सबसे पहला मोबाइल की बिक्री कब शुरू हुई

1973 में लॉन्च किए गए पहले मोबाइल फोन को 0G (Zero Generation) मोबाइल फोन कहा जाता था। पहला मोबाइल फोन के आविष्कार के 10 साल बाद साल 1983 में मोटोरोला ने आम लोगों के लिए पहला मोबाइल बाजार लाया, जिसका नाम Motorola DynaTAC 8000X था। एक बार चार्ज करने पर यह 30 मिनट तक बात कर सकता है। इसमें 30 मोबाइल नंबर भी सेव किए जा सकते थे और उस वक्त इसकी कीमत 3995 अमेरिकी डॉलर (₹295669) रखी गई थी।

भारत में मोबाइल फोन कब आया

दुनिया का पहला मोबाइल (DynaTAC 8000X) बनने के 12 साल बाद 31 जुलाई 1995 को भारत में मोबाइल फोन का आगमन हुआ। ट्राई (भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण) की स्थापना भारत में 20 फरवरी 1997 को दूरसंचार सेवाओं के विस्तार के लिए की गई थी। भारत में मोबाइल सेवा शुरू करने के प्रयास भारतीय उद्यमी भूपेंद्र कुमार मोदी द्वारा 1994 के मध्य से शुरू किए गए थे। उनकी कंपनी ‘मोदी टेल्स्ट्रा’ ने देश में पहली बार मोबाइल सेवा शुरू की और पहली मोबाइल कॉल कोलकाता से दिल्ली के लिए की गई। उसी कंपनी का नेटवर्क (जिसे मोबाइल नेट कहा जाता था)। इस कंपनी को बाद में ‘स्पाइस मोबाइल्स’ के नाम से जाना गया। हम आशा करते है की, दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फोन कब और किसने बनाया था यह लेख आपको पसंद आया होगा।

यह भी पढ़े –

संतरा पानी पर तैरता है लेकिन छिलका हटाते ही क्यों डूब जाता है? जानें वजह

ट्रेन में कौन सा सामान नहीं ले जाया जा सकता है

उड़ने वाला सांप कौन सा होता है? जानें, सच्चाई

Related Posts