मेन्यू बंद करे

डिप्रेशन से होने वाले नुकसान व उपाय

डिप्रेशन (Depression) कोई आम बीमारी नहीं है। यह जीवन के उतार-चढ़ाव और रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाली चुनौतियों से अलग है और लंबे समय तक एक गंभीर स्वास्थ्य स्थिति बन जाने पर यह गंभीर रूप ले लेता है। क्योंकि यह एक मानसिक रोग है, इसलिए रोगी को देखकर इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है, लेकिन लक्षणों को देखा जाए तो इसका पता लगाया जा सकता है। इस लेख में हम, डिप्रेशन से होने वाले नुकसान (Side Effects of Depression in Hindi) व उपाय क्या है जानेंगे।

डिप्रेशन से होने वाले नुकसान व उपाय

डिप्रेशन से नुकसान

  1. डिप्रेशन यह एक ऐसी अवस्था है जब व्यक्ति का मन और दिमाग नकारात्मकता, चिंता, तनाव और उदासी से घिर जाता है।
  2. इस अवस्था में व्यक्ति की सोचने समझने की क्षमता समाप्त हो जाती है और वह धीरे-धीरे खोखला होने लगता है।
  3. अवसाद अक्सर बदतर हो जाता है, जिसके परिणामस्वरूप भावनात्मक, व्यवहारिक और स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं जो आपके जीवन के हर क्षेत्र को प्रभावित करती हैं।
  4. अधिक वजन या मोटापा, जिससे हृदय रोग और शुगर हो सकता है।
  5. डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति दर्द या शारीरिक बीमारी का शिकार हो सकता है।
  6. अवसाद से ग्रस्त व्यक्ति शराब या नशीली दवाओं का दुरुपयोग कर सकता है।
  7. डिप्रेशन वाले व्यक्ति में चिंता, पैनिक डिसऑर्डर या सोशल फोबिया हो सकता है।
  8. पारिवारिक कलह, रिश्ते की कठिनाइयाँ और काम या स्कूल की समस्याएँ बन सकती हैं।
  9. सामाजिक अलगाव का निर्माण हो सकता है।
  10. आत्महत्या की भावना, आत्महत्या का विचार या आत्महत्या ऐसे प्रयास ऐसे व्यक्ति कर सकते हैं।

उपाय

  1. डिप्रेशन को रोकने का सबसे बड़ा तरीका है कि नकारात्मक विचारों को दूर रखने की कोशिश करें और जितना हो सके सकारात्मक रहें।
  2. शराब और अन्य नशीले पदार्थों के सेवन से बचें।
  3. अपने जीवन की हर स्थिति में, आपके साथ हमेशा कुछ लोग होने चाहिए।
  4. कुछ फैसले जो डिप्रेशन की ओर ले जाते हैं, जैसे नौकरी बदलना, प्यार, शादी या तलाक। ऐसे फैसले अकेले न लें, हमेशा उन लोगों से सलाह लें जो सालों से आपके करीब हैं।
  5. अपने दिमाग को जगाए रखने के लिए जितना हो सके डिप्रेशन के बारे में पढ़ें और जानें।
  6. नकारात्मक सोच को अपने ऊपर हावी न होने दें।

यह भी पढे –

Related Posts