Menu Close

कॉरिडोर क्या होता है

आपने जरूर भारत और पाकिस्तान में चर्चित करतारपुर से लेकर काशी विश्वनाथ कॉरिडोर तक की चर्चा में कॉरिडोर शब्द का उल्लेख सुना होगा, लेकिन इस शब्द का सही-सही अनुमान अगर आप नहीं लगा प रहे हो की वास्तव में कॉरिडोर (Corridor) क्या होता है तो हम इस आर्टिकल में इसे सरल शब्दों में समझने की कोशिश करेंगे।

कॉरिडोर (Corridor) क्या होता है

कॉरिडोर क्या होता है

पहाड़ों, जंगलों या अन्य भौगोलिक बाधाओं से गुजरने वाली भूमि की एक पट्टी जिस पर आसपास के क्षेत्रों की तुलना में यातायात आसान होता है उसे कॉरिडोर कहा जाता है। इसके अलावा वास्तुकला में, एक कॉरिडोर एक संकीर्ण और लम्बा बड़ा हॉल है जो दो या दो से अधिक कमरों को जोड़ता है। इसके दो उदाहरण हम आपको देने जा रहे हैं।

भारत में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की चर्चा का विषय बना हुआ है। माना जा रहा है कि इस पूरे कॉरिडोर के निर्माण में 340 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। पूरे कॉरिडोर को करीब 50,000 वर्ग मीटर के बड़े परिसर में बनाया गया है। इसका मुख्य द्वार ललिता घाट से होते हुए गंगा की ओर जाता है। कॉरिडोर में 24 इमारतें भी बन रही हैं। इन भवनों में मुख्य मंदिर परिसर, मंदिर चौक, मुमुक्षु भवन, तीन यात्री सुविधा केंद्र, चार शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, बहुउद्देशीय हॉल, शहर संग्रहालय, वाराणसी गैलरी, जलपान केंद्र, गंगा व्यू कैफे आदि शामिल हैं।

अगर आप जानते होंगे कि पश्चिम बंगाल का सिलीगुड़ी कॉरिडोर भी हमेशा चर्चा में रहता है। यह भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल में स्थित लगभग 27 किमी की भूमि का एक संकीर्ण खंड है, जो भारत के पूर्वोत्तर राज्यों को शेष भारत से जोड़ता है। इसके चारों ओर नेपाल और बांग्लादेश हैं। कॉरिडोर के उत्तर की ओर भूटान साम्राज्य स्थित है।

सिलीगुड़ी शहर, जो पश्चिम बंगाल राज्य में पड़ता है, इस क्षेत्र की प्रमुख बस्ती है और वह चैनल है जो भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, सिक्किम, दार्जिलिंग हिल्स, पूर्वोत्तर भारत और शेष भारत को जोड़ता है। बंगाल के विभाजन के बाद, 1947 में सिलीगुड़ी कॉरिडोर बनाया गया था। हालांकि सिलीगुड़ी कॉरिडोर भारत के लिए एक विशेष रूप से महत्वपूर्ण और संवेदनशील क्षेत्र है, लेकिन यह बांग्लादेश के लिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसकी रणनीतिक स्थिति है।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!