Menu Close

चूड़ा खाने के फायदे

मुख्य रूप से झारखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार में नाश्ते में खाया जाने वाला दही-चूड़ा या चिवड़ा बहुत पसंद किया जाता है। नाश्ते में फिरंगी डाइट अपनाने की जगह आप इस देसी और स्वादिष्ट दही-चूड़ा को शामिल कर सकते हैं। यह स्वाद में तो बेहतर होता ही है साथ ही सेहत के लिहाज से भी इसके कई फायदे होते हैं। नाश्ते में सिर्फ एक कटोरी दही-चूड़ा खाने से आपका पेट स्वस्थ रहता है। तो आइए जानते हैं दही चूड़ा खाने के फायदे क्या-क्या है।

दही चूड़ा खाने के फायदे

चूड़ा खाने के फायदे

1) पचने में आसान

दही-चूड़ा एक भारी भोजन है, लेकिन यह आसानी से और जल्दी पच जाता है। इसे सुबह के नाश्ते में शामिल करने से आपका पेट देर तक भरा रहता है। इसे खाने से आपके शरीर में एनर्जी बनी रहेगी। हालांकि, अगर आप बच्चों को परोस रहे हैं तो इसमने गुड़ मिलाए, जिससे यह बच्चों को पसंद आएगा। आप इसे और अधिक स्वस्थ और स्वादिष्ट बनाने के लिए सूखे मेवा भी डाल सकते है।

2) दही-चिवड़ा फाइबर से भरपूर होता है

चावल से बनने के कारण चूड़ा या चिवड़ा फाइबर से भरपूर होता है। चपटा हुआ चिवड़ा जब दही में मिला दिया जाए तो यह और भी सेहतमंद हो जाता है। आंतों को स्वस्थ रखने के लिए यह उत्तम आहार है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो दही-चिवड़ा को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। वजन घटाने के सफर में गुड़ और दही दोनों ही मददगार साबित हो सकते हैं।

3) आयरन से भरपूर

अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो दही-चिवड़ा को अपनी डाइट में शामिल करें। विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती महिलाएं दही-चिवड़ा भी खा सकती हैं, जिससे शरीर में आयरन की कमी नहीं होती है। इसके अलावा यह एनीमिया जैसी बीमारियों के खतरे को भी कम कर सकता है। हालांकि दही-चिवड़ा खाने के बाद अगर आपको किसी भी तरह की परेशानी हो रही है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

4) आयरन की कमी को दूर करें

दही-चिवड़े या दही-चूड़ा में पर्याप्त मात्रा में आयरन होने के कारण यह आयरन की कमी वाले लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि यह एनीमिया की बीमारी के खतरे से बचा सकता है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी में महिलाओं के लिए दही-चूड़े का सेवन फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि इससे उन्हें कोई नुकसान नहीं होता और शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी भी पूरी हो जाती है।

5) वजन कम करने में मददगार

जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं और नाश्ते के लिए एक स्वस्थ विकल्प की तलाश में हैं, वे दही-चूड़ा या दही-चिवड़े का सेवन कर सकते हैं। क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है। साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर दही आपके पेट को लंबे समय तक भरा रखता है, जिससे आप बेवजह के दौरे से बच सकते हैं। इसलिए वजन कम करने की चाहत रखने वाले लोग अपनी डाइट में दही-चूड़ा को शामिल कर सकते हैं।

6) पेट की ख़राबी दूर करें

पेट खराब या दस्त, कब्ज जैसी समस्या से परेशान लोगों के लिए भी दही-चूड़ा खाना फायदेमंद हो सकता है। लेकिन ध्यान रहे कि दही-चूड़े में चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल करें। आप इसमें एक मैश किया हुआ केला भी मिला सकते हैं। इससे पेट की ख़राबी दूर करने के अलावा आपकी पाचन क्रिया भी ठीक रहेगी।

यही भी पढे –

Related Posts

error: Content is protected !!