Menu Close

चींटी के शरीर में खून नहीं होता तो ताकत कहां से आती है

हम सभी जानते हैं कि एक चींटी अपने वजन से 25 गुना ज्यादा वजन उठा सकती है। मैं यह भी जानता हूं कि चींटी के शरीर में खून नहीं होता है। अब सवाल यह उठता है कि जब चींटी के शरीर में खून नहीं होता तो ताकत कहां से आती है। वह इतना वजन कैसे उठा सकती है? चलो पता करते हैं।

चींटी के शरीर में खून नहीं होता तो ताकत कहां से आती है

चींटी के शरीर में खून नहीं होता तो ताकत कहां से आती है

आपको जानकर हैरानी होगी कि चींटी को कभी भी दिल का दौरा नहीं पड़ सकता क्योंकि उसके शरीर में दिल नहीं होता। क्योंकि दिल का काम खून को पंप करना होता है और चींटी के शरीर में खून नहीं होता। मानव शरीर में रक्त के साथ ऑक्सीजन का प्रवाह होता है, लेकिन चींटी के शरीर में रक्त नहीं होता है, इसलिए फेफड़े नहीं होते हैं। कुछ नलिकाएं होती हैं जो पूरे शरीर में फैलती हैं। ये हवा से भरे हुए हैं।

चींटी के शरीर में खून की जगह हेमोलिम्फ नाम का पदार्थ होता है। यह द्रव चींटी के शरीर का पोषण करता है। इससे चींटी के शरीर में इतनी ताकत आ जाती है कि वह अपने वजन से 20 गुना ज्यादा वजन उठा सकती है। जैसा कि मैंने पढ़ा, चींटी के शरीर में दिल नहीं होता, लेकिन फिर भी चींटी न केवल अपने लिए बल्कि कॉलोनी में अपनी पड़ोसी चींटी के लिए भी अपने पेट में खाना छिपाती है। ऐसे ही मजेदार जानकारी के लिए जरा हटके के बाकी पोस्ट पढ़े।

यह भी पढ़े –

Related Posts