मेन्यू बंद करे

भारत में सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरी कौन सी है 2022

भारत में सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरी कौन सी है क्या आप जानते है? अगर नहीं, तो इस आर्टिकल में हम 2022 में भारत की टॉप 5 सबसे ज्यादा सैलरी वाली जॉब के बारे में बताने जा रहे है। हर माता-पिता का सपना होता है कि उनका बेटा या बेटी बड़ी होकर अच्छी नौकरी करे। ताकि उन्हें भविष्य में आर्थिक तंगी का सामना न करना पड़े, लेकिन बहुत कम लोग होते हैं जिनका सपना इसलिए पूरा होता है क्योंकि हर साल करोड़ों युवा अपना ग्रेजुएशन पूरा करते हैं। ऐसे में सभी के लिए नौकरी पाना संभव नहीं है।

भारत में सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरी कौन सी है

देश में बेरोजगारी इस कदर बढ़ गई है कि युवा चपरासी जैसे पदों के लिए डॉक्टरेट इंजीनियरिंग की डिग्री के लिए आवेदन कर रहे हैं। बहुत कम युवा ऐसे होते हैं जिनका चयन सरकारी नौकरी के लिए होता है, जिन्हें सरकारी नौकरी नहीं मिलती है वे निजी क्षेत्र में जाते हैं। हर व्यक्ति का सपना होता है कि वह ऐसा काम करे जिसकी सैलरी लाखों करोड़ में हो। तो इस पोस्ट में हम आपको भारत में सबसे ज्यादा भुगतान करने वाली टॉप 5 नौकरियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

भारत में सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरी कौन सी है

आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में सबसे ज्यादा सैलरी वाली नौकरी बिजनेस एनालिस्ट की है। अगर आपको भी लगता है कि भारत में सबसे ज्यादा सैलरी डॉक्टर या इंजीनियर को मिलती है लेकिन ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि यह पेशा इस लिस्ट में बहुत पीछे है। लगभग सभी कंपनियों के बिजनेस एनालिस्ट होते हैं जिनकी सैलरी 6-8 लाख से शुरू होती है।

1. व्यापार विश्लेषक (Business Analyst)

आपको सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन बिजनेस एनालिस्ट की सैलरी भारत में सबसे ज्यादा होती है। हर कंपनी के पास बिजनेस एनालिटिक्स होता है जो बिजनेस को बढ़ाने के लिए कंपनी के बिजनेस का विश्लेषण करता है। आपको बता दें कि एक अच्छा बिजनेस एनालिस्ट बनने के लिए गणित विषय का विशेषज्ञ होना जरूरी है। इसके साथ ही तेजी से गणना करने की क्षमता भी होनी चाहिए। इस जॉब में शुरुआती सैलरी 6 लाख से 8 लाख सालाना है। वहीं करियर के बीच में यह 15 लाख हो सकती है, जब आप इस काम में माहिर हो जाते हैं तो आपकी सैलरी 25 लाख से ज्यादा हो सकती है।

2. निवेश बैंकर (Investment Bankers)

इस नौकरी के तहत व्यक्ति को धन से संबंधित सभी काम करने होते हैं जैसे पूंजी जुटाना, शीर्ष प्रबंधन को वित्तीय सलाह देना, पूंजी निवेश करना आदि। इसके साथ, एक सफल बैंकर बनने के लिए, व्यक्ति को सटीक डेटा सेट करने और अच्छा देने में सक्षम होना चाहिए। प्रस्तुतीकरण। इनकी सैलरी की बात करें तो इन्हें एंट्री लेवल में सालाना 12 लाख, करियर के बीच में 30 लाख और अनुभवी होने पर 50 लाख मिलते हैं।

3. प्रबंधन पेशेवर (Management Professionals)

प्रोफेशनल मैनेजमेंट में करियर बनाने वाले लोगों की हर कंपनी में जरूरत होती है। इस नौकरी से जुड़े लोग किसी भी संगठन की रीढ़ होते हैं। हालांकि इस नौकरी में शुरुआत में संघर्ष होता है लेकिन जब आप अनुभवी हो जाते हैं तो यह आपके लिए आसान हो जाता है। साथ ही आपका वेतन भी बढ़ता रहता है। इस जॉब में एंट्री लेवल पर 3 लाख, करियर के बीच में 25 लाख और एक्सपर्ट होने के लिए 80 लाख रुपये मिलते हैं।

4. चार्टर्ड एकाउंटेंट (Chartered Accountant)

यह भारत में सबसे लोकप्रिय नौकरियों में से एक है, बता दें कि हर कंपनी को एक चार्टर्ड एकाउंटेंट की आवश्यकता होती है। क्योंकि कंपनी को कर प्रबंधन, वित्तीय लेखांकन और बैंकिंग और परामर्श की आवश्यकता होती है। जो एक चार्टर्ड अकाउंटेंट से बेहतर कोई नहीं कर सकता। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) का सदस्य होना चाहिए। चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को एंट्री लेवल में सालाना 5 लाख 50 हजार, मिड करियर में 12 लाख 80 हजार और अनुभवी होने पर 25 लाख 70 हजार मिलते हैं।

5. आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियर (IT & Software Engineers)

आने वाला समय केवल सॉफ्टवेयर इंजीनियरों के लिए है, इसलिए यदि आप इस क्षेत्र की तैयारी कर रहे हैं, तो आपको समय के साथ अपडेट रहना होगा ताकि आप नई चुनौतियों का अच्छी तरह से सामना कर सकें। कई सॉफ्टवेयर इंजीनियर शिकायत करते हैं कि उनका वेतन तेजी से नहीं बढ़ता है, लेकिन अगर आप इस क्षेत्र में विशेषज्ञ बन जाते हैं, तो आपको रोजगार के कई अवसर देखने को मिलते हैं। इनकी शुरुआती सालाना सैलरी 1.5 लाख से 2.5 लाख होती है, करियर के मध्य में यह 3 से 6 लाख होती है, जबकि एक प्रोजेक्ट को लीड करते हुए यह 12 से 19 लाख हो जाती है।

यह भी पढ़े –

Related Posts